Firewall क्या है और Network में इसके Importance को जानिए – What is Firewall in Hindi

What is Firewalls in Hindi
Spread the love

आप अगर Networking में interested हो और आगे जा कर एक अछे network Engineer बनना चाहते हो तो आपको Firewall क्या चीज है ईसके बारे में जानना ही पढ़ेगा। क्यूंकी firewall एक private network को safe & secure रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। और आज हम उसी Firewall के बारे में जानेंगे।

तो चलिए आज हम किन किन चीजों के बारे में जानेंगे उसको देख लेते है। आज हम जानेंगे – Firewall क्या होता है (What is Firewall in Hindi), Firewall कितने प्रकार के होते हैं, Firewall के services को कैसे उपोयोग किया जाता है, Firewall कैसे काम करता है, Network में क्यूँ Firewall को इस्तेमाल किया जाता है, Firewall के फायदे, Firewall के नुकसान, Firewall और Anti-virus के बीच की अंतर क्या है , etc.

Firewalls in Hindi

Firewall क्या होता है – What is Firewall in Hindi

Firewall एक special type के network security device है, जो network में network administrator के द्वारा set की गई rules के मुताबिक काम करता है। और Rules अगर successfully create हो जाता है तो उस rules के अनुसार सभी incoming और outgoing data packet को monitoring और filtering करके network को safe & secure रखते है।

आपको और भी आसान भाषा में समझाता हूं firewall क्या है। आप firewall को college की Security guard की तरह सोच सकते हो। college की Security guard जिस तरह college की gate में रेह कर सभी आने और जानें वाले students से उसका ID card check करके college में entry या college से exit करने देते है. ठीक उसी प्रकार firewall भी network की gateway मे रह कर बाहर से आने (incoming) और बाहर में जाने (outgoing) वाले सभी data packet को monitoring और filtering करके उस data packet को network से entry या exit करने देते है।

What is Firewalls in Hindi

मेरे कहने का मतलब आप ऐसे समझे, मान लेते है आपका एक ऑफिस और उस ऑफिस में 100 computers लगे हुए है। आप चाहते हो आपके office में कोई clients Facebook को इस्तेमाल न कर पाए। और आप अगर इस firewall device में जा कर एक rule create करते हो के कोई clients Facebook app इस्तेमाल न कर पाए। तो जैसे ही आप इस rules को create करोगे तो आपके कोई staff आपके office बैठ कर Facebook app को नही open कर पाएगा। और तो और internet से Facebook का कोई notification भी नहीं आएगा। आपको मैं सिर्फ एक example दिया, इस तरह आप बहुत सारे rules create कर सकते हो।

Firewall कैसे काम करता है – How does a firewall work in Hindi?

Firewall क्या है सायद आपको समझ में आ गेआ है। अब हम जानेंगे Firewall कैसे काम करता है। तो चलिए उसको भी जान लेते है –

देखिए दोस्तों, Firewall device network में network administrator के द्वारा set की गई rules के मुताबिक कार्य करता है। Network administrator अगर यह rules set करता है के कोई employs company के अंदर किसी भी तरह के entertainment website open नही कर पाएगा। तो जैसे ही network administrator firewall device के जरिए network में इस rules को create कर देगा उसके बाद अगर कोई employees entertainment website open करने की कोशिश करता है तो बह request Firewall device तुरंत Block कर देगा।

और यह rules सिर्फ outgoing request को block करेगा ऐसी बात नहीं है। जब बाहर से कोई entertainment Content की links या notification company के अंदर आने की कोशिश करेगा तब भी firewall device उस entertainment Content की सभी links या notification को block कर देगा। इस प्रकार से firewall device सभी incoming और outgoing traffic को Monitoring और filtering करने की काम करता है। जैसे आप नीच में दी गई gif में देख रही हो –

Firewalls in Hindi
  1. ROUTER क्या है और काम कैसे करता है- WHAT IS A ROUTER IN HINDI
  2. NETWORK DEVICES IN HINDI- ROUTER, MODEM, SWITCH, REPEATER
  3. NETWORK क्या है और कितने प्रकारके होते है – WHAT IS NETWORK IN HINDI
  4. TCP/IP MODEL क्या है – TCP/IP MODEL IN HINDI ?
  5. OSI MODEL क्या है – OSI MODEL IN HINDI?
  6. TOPOLOGY क्या है ( TOPOLOGY IN HINDI) और कितने प्रकार के होते है ?
  7. IP ADDRESS क्या है – WHAT IS IP ADDRESS IN HINDI

Firewall के services कैसे उपयोग किया जाता है – Firewall Services Used in Hindi

Network में Firewall का जो काम है उन कामों को तीन प्रकारसे इस्तेमाल किया जा सकता है। मतलब आप अगर firewall का security services इस्तेमाल करना चाहते हो तो आपके पास तीन options available है। और बह तीन options है –

  1. Hardware firewall device
  2. Software firewall
  3. Cloud/hosted firewalls

Hardware firewall in Hindi

आप अगर इन option (Hardware firewall) को choose करते हो तो आपको Hardware firewall device खरीदना परेगा। और इसका काम होता है network में घुसने वाली सभी inbound और outbound link को monitoring और filtering करके network को safe & secure रखना। और एक बात इस firewall router की तरह दिखने वाला एक डिवाइस है और इसको network के अंदर install करना परता है। जैस की आप नीचे में दी गई image में देख रही हो इस device को router के बाद लगाना परता है।

Software firewall in Hindi

software firewall जरिए आप अगर firewall का services को इस्तेमाल करना चाहते हो तो इसके कुछ benefit है। जैसे, software firewall के services को आप free में इस्तेमाल कर सकते हो, और आपको कोई hardware device नहीं खरीदना परेगा, etc. किन्तु इसका एक ही नुकसान है और बह है इसके जरिए आप ज्यादा services को इस्तेमाल नहीं कर पाओगे।

इसको इस्तेमाल करने की दो तरीका है। एक – software के जरिए, और दूसरा – बिना software के जरिए

  1. software के जरिए firewall के services इस्तेमाल करने के लिए आपको internet से firewall के software download करना परेगा जिसका links नीच में दी गई है।
  2. और आप अगर बिना software के जरिए firewall के services इस्तेमाल करना चाहते हो तो आपको windows operating system के control panel में जाना परेगा। Windows operating system में firewall software inbuild रहता है । जिससे आप firewall के services को इस्तेमाल कर सकते हो। किन्तु hardware firewall device की तरह उतना efficient तरीकों से डाटा पैकेट को monitoring और analyze नही करता है। इसकी मदद से network में छोटे छोटे rules को established किया जा सकता है।

Software Firewall Downloaded Links –

  1. SolarWinds Network Firewall Security Management
  2. Comodo Firewall
  3. TinyWall
  4. ZoneAlarm Free Firewall
  5. GlassWire

Cloud/hosted firewalls in Hindi

यह भी एक software based firewall ही है, किन्तु इसको इस्तेमाल करने के लिए आपको पैसा खरच करना परेगा। आप कैसे इसको इस्तेमाल करोगे चलिए जान लेते है – internet में बहुत सारे ऐसी company’s या website है जो पैसे की बदले में firewall के services को deliver करता है। और बह services internet के जरिए भेजा जाता है। और उन सब company’s या website की links मैं नीच में दे दूँगी। और एक बात इस firewall का services में और hardware firewall का services में कोई भेद नहीं है।

Cloud/hosted firewalls service provider –

  1. CloudFlare WAF.
  2. AWS WAF.
  3. Sophos Firewall.
  4. Akamai Kona Site Defender.
  5. Imperva WAF.

Network में क्यूँ Firewall को इस्तेमाल किया जाता है – Why Firewall use in network in Hindi

Network में Firewall का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है क्योंकि Firewall basically malware Attack और IP Spoofing जैसी खतरनाक attack से पूरे entire network को बचा के रखते हैं। किसी भी network में मूल रूप से firewall gatekeeper या barrier की तरह काम करता है। जो बाहर से आने और बाहर में जानें वाले सभी डाटा packet को monitoring और filtering करके पूरे entire network को secure और safe रखते है।

Related Notes –

Firewall कितने प्रकार के होते हैं – Types of Firewall in Hindi?

Private network से Internet में और internet से private network में घुसने बाली डाटा पैकेट को check करने की अलग अलग तरीकों या parameter के हिसाब से firewall को कही भागों में बीभक्त किया गेआ है। जिसका बरणं नीच में किया गेआ है –

  • Proxy Firewall
  • Packet-filtering firewalls
  • Stateful Multi-layer Inspection (SMLI) Firewall
  • Unified threat management (UTM) firewall
  • Next-generation firewall (NGFW)
  • Network address translation (NAT) firewalls

Firewall के फायदे – Benefit of Firewall in Hindi

इसके बहुत सारे advantages है। जिसका बरणं नीचे किया गेआ है –

  1. Firewall इस्तेमाल करने की सबसे major advantages यह है के firewall network में आने और जाने वाले सभी डाटा packet को monitoring करने का काम करता है। इससे क्या होता है कोई unwanted या spam data network में entry नही कर पते है।
  2. Internet की दुनिया में सबसे dangers virus है torzon virus । इस virus क्या करता है network के जरिए server में घुस के Server की सभी डाटा को चुरा लेती है। और बाद में hacker उस डाटा की बदले में बहुत सारे पैसे की demand करता है। और यह सब process पूरा silently होता है, user को कोई पता नहीं चलता है के उसका personal data कोई चुरा रहा है। और इन dangers virus से overall system को पूरी तरह से protect करता है firewall
  3. इस torzen virus के एलाबा इंटरनेट में और भी virus है जो पूरी कंप्यूटर को या computer की डाटाको बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकती है । एक खौफनाक बात आपको बता देता हूं प्रतिदिन इंटरनेट में सारे चार लाख से ज्यादा (450000) virus spread या upload होता है। और इन सब virus से computer या overall network को firewall पूरी तरह से secure रखते है।
  4. Firewall internet में Users की unwanted access को पूरी तरह control करता है। मतलब User internet browsing करने के समय जाने अंजाने में हमेसा गलत website की link पर click कर देते है और इससे computer में virus घुस जाता है। और network में अगर firewall लगा हुआ है तो आपको कोई चिंता करने की जरूरत नहीं क्योंकि आप जब कोई गलत website में घुस जाओगे तो आपके computer में warning message show होगा और तुरंत firewall उस links को Block कर देगा।
  5. आज के समय में Users की privacy एक major factor बन चुका है। आप खुद ही जानते हो अगर किसी ने आपके private conversation, document etc. को चुरा लेता है तो आपकी कितनी बड़ी नुकसान हो सकता है। और इसी चीज को ध्यान में रखते हुए firewall user की इस privacy को protect करके रखते है । ताकि कोई hacker इसे चुरा न सके।

Firewall के नुकसान – Limitations of Firewall in Hindi

और कुछ Disadvantages भी है,जिसका बरणं नीचे किया गेआ है –

  1. इसकी बड़ी disadvantage यह है इसकी cost। Firewall device की price बहुत ज्यादा है । बढ़े company के लिए इसके cost को उठाना थोड़ा easy है, किन्तु medium या छोटे company के लिए इसकी cost बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।
  2. हम सब जानते हैं firewall अलग अलग user के activity के ऊपर restriction लगाने के लिए काम में आता है। तो इस service जिस प्रकार एक advantage है ठीक उसी प्रकार बड़े company में यह एक Disadvantage है। क्योंकि बड़े company में सभी user को restriction लगाना possible नहीं हो पता है , अगर पॉसिबल हो भी जाता है तो उसको manage करना बहुत difficult हो जाता है।
  3. अगर firewall में ज्यादा rules create की गई है तो overall network की performance slow हो जाता है। क्योंकि firewall software system की Background में हर वक्त on condition में रहके create की गई rules को follow करता है जिससे network और system की performance slow कर देता है।
  4. Firewall को operate करना बहुत मुश्किल है। क्योंकि इसमें तरह-तरह के service को managed करना पड़ता है।
  5. Firewall सब तरह के डाटा packets को check नहीं कर पाते हैं। जिसके कारण बहुत सारे unwanted data firewall डिवाइस को cross करके सिस्टम को effect करता है।
  6. firewall device password के दुरुपयोग से नहीं बचा पते है।
  7. यदि security rules को गलत तरीके से configure किया गया है, तो फ़ायरवॉल system को कोई सुरक्षा नहीं दे पाते है।
  8. फ़ायरवॉल वायरस से संक्रमित फ़ाइलों या सॉफ़्टवेयर के स्थानांतरण से नहीं बचा सकता है।

Firewall और Anti-virus के बीच की अंतर क्या है – Difference between a Firewall and Anti-virus in Hindi

Firewall के overall article को आप अगर अच्छे तरह से पढ़े होंगे तो आपके मन में बहुत सारे questions आ सकते हैं। जैसे –

  • क्या firewall को antivirus बोला जा सकता है?
  • क्या firewall और antivirus एक है?
  • System में अगर antivirus के जगह firewall को इस्तेमाल करे तो क्या होगा?

इसलिए मैंने आपके मनके सभी doubt को clear करने के लिए को इस topic को प्रस्तुत किया है। इस topic को पढ़के आपका सारा doubt clear हो जाएगा।

आपको अगर इस Anti-virus के बारे में और भी जानना है तो नीच में दी गई article को follow करो –

Firewalls in Hindi
AttributesFirewallAnti-virus
DefinitionFirewall एक special type के network security device है जो network में network administrator के द्वारा set की गई rule के मुताबिक हर एक incoming और outgoing traffic को monitoring और filtering करने का काम करता है।Antivirus software एक तरह के program है जो systems में मौजूद फाइलों को continuous search करके virus files को detect करता है और बाद में उन सब फाइलों को systems से remove कर देता है। Virus files या software मतलब worms, adware, और threats file को antivirus detect करके remove कर देता है।
StructureFirewalls दो तरह के देखने को मिलता है। एक – hardware और दूसरा – software.और दूसरी तरफ Anti-virus सिर्फ software में available है।
Rule Establishment Firewall को इस्तेमाल करने के लिए user को पहले Firewall में rules create करना परेगा। rules अगर नहीं create किया गेआ है तो firewall कोई काम की नहीं।और Anti-virus में कोई तरह के rules create नहीं करना परता है। बिना rules के ही यह मस्त काम करता है।
PriceFirewall के price बहुत ही ज्यादा है।किन्तु Anti-virus की price बहुत ही कम है। Firewall के मुकाबले।
ImplementationImplementation के मामले में firewall का Implementation बहुत difficult है।अगर दूसरी ओर अगर देखा जाए तो Anti-virus को Implementation करना बहुत easy है।
Responsibility या Purposefirewall एक private network को अच्छी तरह से control करने के लिए ज्यादा responsive होता है। इसका मतलब यह है कि firewall मुख्य रूप से network traffics को monitoring और filtering करने के लिए ज़िम्मेदार हैं।और दूसरी तरफ Anti-viruses एक particular computer के सभी viruses को detecting और removing करने के लिए ज़िम्मेदार हैं।
ScalabilityScalability की हिसाब से Firewall ज्यादा scalable होता है anti-virus मुकाबले। क्यूंकी firewall का implementations आप आपके जरूरत के हिसाब से कर सकते हो।Anti-viruses को आप आपके जरूरत के हिसाब से scalable नहीं कर सकते हो।
Peripheral Device Protection Peripheral Device में अगर कोई virus file रहता है तो Firewall device उसको protect नहीं कर पता है।किन्तु दूसरी तरफ Anti-Virus Peripheral Device में अगर कोई virus रहता है तो तुरंत detect करके remove कर देता है।
Threatsएक firewall mainly network related attack से computer को safe & secure रखते है। network related attack मतलब – Routing attacks और IP Spoofing.Anti-virus mainly कंप्युटर की files, document, personal information (जैसे – login credentials, credit card details,) etc. को hackers, virus से computer को safe & secure रखते है।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप Firewall क्या है और Network में इसके Importance को जानिए – What is Firewall in Hindi? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.