इंटरनेट क्या है और काम कैसे करते है – What is Internet in Hindi ?

Title देख कर तो आपको पता चल गेआ ही होगा आज हम किसके बारे में बात करने बाले है। जी हाँ दोस्तों आज हम internet के बारे में बात करने बाले है। जिस internet आज के समय में मनुष्य जीवन का एक अभिन्न अंग है। तो चलिए बिना किसी बक्त को न गबाये इस article की विषयसूची को जान लेते है। इस article की विषयसूची है – इंटरनेट क्या है – What is Internet in Hindi, internet की इतिहास, इंटरनेट कैसे काम करते है, इंटरनेट की उपयोग, Internet की Advantages और Disadvantages, Intranet क्या है, Extranet क्या है, WWW क्या है, etc. जैसे और भी की important सवाल के जबाब। तो चलिए बिना किसी देर के शुरू करते है-

इंटरनेट क्या है – What is Internet in Hindi ?

इंटरनेट एक विशाल नेटवर्क है, जो दुनिया भर के सभी computing devices को एकसाथ जोरने और उनके बीच communication established कराने का काम करता है। इस internet की बजह से ही हम किसी भी information को access, किसी भी persons से सम्बन्ध और किसी को भी recourse share etc. जैसी कामों को कर पाते है।

internet एक ऐसा infrastructure की तरह काम कर रहा है, जिसकी मदद से हम सबने आपना daily life में online shopping से लेकर Facebook में आपना story share करना, Netflix में streaming देखना, किसी को mail send करना, दुनिया भर की सभी news के बारे में update रहना etc. जैसी कामों को कर पा रहा हूँ । और यह सब काम possible हो पा रहा है internet की इन सब Devices (cables, computers, data centers, routers, servers, repeaters, satellites और WIFI towers) की बजह से। मतलब इन सभी Devices ही है जो हमारे डाटा या information को एक जगह से दूसरी जगह में ले जाता है।

आपको अगर जानना है कौनसी Device क्या काम करता है तो इस Article को follow करो। जिसकी link नीच में दी गई है-

Internet की इतिहास – History of Internet in Hindi

इंटरनेट क्या है सायद आपको समझ मे आ गेआ है। अब हम जानेंगे internet की इतिहास। तो चलिए दोस्तों, internet को किसने बनाया और कौनसी situation में बनाया गेआ है उसको जान लेते है।

देखिए दोस्तों, Internet आबिस्कार होने की Main reason थी Cold War (1947–1991)। Cold War के समय Russia और America दो महा शक्तिशाली देश थे। और उस समय दोनों ही country पूरे world मे आपना दबदबा कायम करना चाहते थे। और इसी कारण के लिए दोनों country एक दूसरे के दुश्मन बन गई। और एक दूसरे के ऊपर आक्रमण करने की plan करने लगे।

किन्तु उस समय दो country की मन एक ही भय था बह है परमाणु हमला। Because Internet के आगमन से पहले एक country का सभी important data एक ही क्रेंद्र से distribute होता था। मान लीजिए उस क्रेंद्र पर अगर विपक्षी देश परमाणु हमला कर देता है तो उस देश का सभी important data नष्ट हो जाएगा और सबसे बड़ी बात उस देश अचल हो जाएगा। इस समस्या से मुक्त होने के लिए खास कर America इसके स्थायी समाधान की तलाश करने लगे।

आपको अगर और भी जानना है internet की इतिहास के बारे में तो नीच में दी गई notes को follow करो –

  1. इंटरनेट की पूरी इतिहास – HISTORY OF INTERNET IN HINDI?

इंटरनेट कैसे काम करते है – How to work Internet in Hindi

पूरा internet client server architecture पर काम करता है। पहले हम client server architecture क्या है उसको अछि तरह से समझ लेते है । देखिए दोस्तों, हम सभी ने google का इस्तेमाल करते है किसी न किसी questions की answer जानने के लिए और उसके के जबाब में Google हमे हमारे questions की मुताबिक answer provide करता है। ठीक ऐसा ही होता है न दोस्तों!

और इसी के हिसाब से हम बन जाते है Clint और Google बन जाते है Server। क्योंकि Clint का अर्थ यह होता Service लेना और Server का अर्थ होता है Service देना। और हम सब Google से service मांग रहे है और Google हमारे questions की मुताबिक service दे रहा है। सिर्फ google ही नहीं, google जैसे और भी तरह तरह के website या webserver है जो हर एक रकम के service provide कर रहा है। जैसे- YouTube हो गेआ, Facebook हो गेआ, इस website (मतलब – IT Intelligance) हो गेआ, etc.

और अब जानते है internet कैसे काम करता है। पहले ही मैं बता चुका पूरा internet client server architecture पर काम कर रहा है। और client server architecture में क्या होता है Clint का Request server के पास जाता है और server clients के request के काम करता है। और इसी architecture में Internet काम कर रहा है। basically Clint के Request server के पास ले जाने और server की services Clint के पास ले आने का काम internet करता है।

how to work internet in hindi

और इस Clint server architecture के बीच जो सबसे बड़ा role play करता है वह है ip address। क्योंकि आप जानते है आपके जैसे लाखो लाखो Clint google से हर वक्त questions पूछते रहते हैं । और internet में उन सब clients को identify भी तो करना परेगा के कोनसा Clint क्या questions पूछ रहा है और उस identifying करने के लिए ip address का इस्तेमाल किया जाता है।

इंटरनेट की उपयोग – Uses of internet in Hindi

  1. Online Businesses (E-commerce) : internet जैसी माध्यम को इस्तेमाल करके सभी E-commerce websites हमारे जीबन को और भी आसान कर दिया है। आज के समय में तो किसी सामान को खरीदने के लिए market जाने की कोई जरूरत नहीं परती है। घर बैठके ही सिर्फ एक click करके E-commerce website (Amazon, Flipkart, Myntra ,etc.) से बह सामान खरीद पाते है।
  2. Education: Pandemic Covid-19 आने के बाद Education system की तकदीर ही बदल गेआ। Before Covid situation में सब कुछ Offline में होता था। आज के समय में सब कुछ Online में होता है। और यह सब कुछ possible हो पाया है सिर्फ Internet की बजह से। Pandemic Covid-19 आने के बाद भी इस internet के कारण Education system में कोई रुकावट नहीं आई।
  3. Social Networking: internet uses के बारे में बात करे और social networking की बात अगर ना करे, यह हो नहीं सकता! क्योंकि 90% people internet की मदद लेकर Social Networking site को इस्तेमाल करते है। यदि आपको online दोस्त बनाना पसंद है तब आपके लिए यहाँ पर बहुत सारे social media sites (Facebook, Instagram, WhatsApp, etc.) मौजूद हैं जिसकी मदद से आप online दोस्त बना सकते हो।
  4. Entertainment: इंटरनेट का प्रयोग Entertainment के लिए भी व्यापक रूप से किया जाता हैं। इंटरनेट पर पूरे world की Film, serial, jokes, computer game, social media और न जाने क्या – क्या हमारे मनोरंजन के लिए उपलब्ध हैं।
  5. Job Finder Site – आज internet में ऐसे बहुत से websites हैं जो हमे निरंतर jobs की जानकारी प्रदान करते हैं। फिर चाहे वो कोई technical job हो या फिर non- technical jobs. यदि आपको भी jobs की तलाश है तब आप भी इनमें register कर अपने पसंदीदा job प्राप्त कर सकते हैं

Advantages of Internet in Hindi

ऊपर दी गई इंटरनेट की उपयोग – Uses of internet in Hindi topic में जो जो points दिया गेआ है। उन points ही Advantages of Internet की points है।

Disadvantages of Internet in Hindi

Internet की upbringing जिस तरह इंसानों को आगे की तरफ ले जा रहा है ठीक उसी तरह internet की ज्यादा इस्तेमाल इंसानों को पीछे भी दकेल रहा है। किस तरह internet इंसानों को हानि पहुंच रहा है चलिए देख लेते हैं-

  1. Time wastage: आज के समय में सभी age group के इंसान इंटरनेट की सहारा लेकर social media apps पर सबसे ज्यादा time spend करता है। एक Global organization (statista) की report यह बताता है के India के हर इंसान दिन में 2 hours 35 minute तक social media apps में आपना कीमती बक्त spend करते है। और मैं तो सिर्फ social media की stats देखाई है, इसके एलाबा और भी कई websites, online gaming platform (BGMI, Free fire, COC etc.) है जिस पर इंसान आपने कई महत्वपूर्ण घंटे बर्बाद करते है।
  2. Bad impacts on health: आज के समय Internet पर बहुत ही ज्यादा टाइम spend करने की वजह से इंसानों के आंखों पर बहुत ज्यादा बुरा effect पर रहा है। इंटरनेट के ज्यादा इस्तेमाल सिर्फ आंखों को effect नहीं करता है उसके साथ साथ इंसानों depression, lack of sleep, anxiety , back pain, जैसी बीमारी का शिकार हो सकते है।
  3. Cyber Crimes: internet पर cyberbullying , spam, viruses , hacking और stealing जैसी घटना दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहा है। cybercriminals इंटरनेट की मदद लेकर इंसानों की किसी भी confidential data को चुरा या hack कर रहा है। जिसकी कीमत इंसानों को भारी मात्रा में चुकाना पड़ रहा है।
  4. Effects on children: internet का सबसे ज्यादा बुरा असर छोटे-छोटे बच्चे के ऊपर पड़ रहा है। क्योंकि आज के समय में छोटे-छोटे बच्चे सबसे ज्यादा टाइम internet पर ही बीता रही हैं।
  5. Bullying and spreading negativity: internet की बजह से जैसे दुनिया भर की अछि news को हम जान सकते है। ठीक बैसे ही internet की बजह से दुनिया भर की fake news, shameful messages, Video‘s तुरंत ही viral हो जाते है। जिससे society पर एक गलत impact परती है। और कई कई fake news, Video’s का असर तो दंगे तक ले जाता है।

Internet, Intranet, and Extranet के बीच की अंतर – Difference between internet, intranet, and extranet in Hindi

            Points     InternetIntranetExtranet
Define                         इंटरनेट एक विशाल नेटवर्क है, जो दुनिया भर के सभी computing devices को एकसाथ जोरने और उनके बीच communication  कराने का काम करता है।किसी भी organization’s के private network को intranet कहा जाता है और यह सिर्फ company के authorized internal members ही इस्तेमाल कर सकता है.  Extranet भी किसी organization’s के private network को कहा जाता है लेकिन इसमें company के authorized internal members के साथ साथ external members भी होता है.
Network Area & Access इसका range all over the world है और सभी users access कर सकता है।इसका range सिर्फ organization के अंदर तक ही है। और यह Private members के लिए बनाया गया है ।  इसका range भी limited ही है लेकिन यह थोरा बड़ा होता है Intranet के मुकाबले । और यह उस company के Private members और users के लिए बनाया गया है ।
Security      LowHighHigh
Usersइसको इस्तेमाल सभी कर सकता है।organization के Employees or authorized people ही इस network का इस्तेमाल कर सकता है.  organization के Employees or authorized people के साथ साथ third parties like partners, vendors, customers भी इस नेटवर्क इस्तेमाल कर सकता है।
Regulated Authorityusers की कार्येक्रम को या overall services को Regulated करने बाली Authority कोई भी नहीं है।intranet में किसी organization users की कार्येक्रम को या overall services को Regulated करता है ।Extranet में भी किसी organization या multiple organization users की कार्येक्रम को या overall services को Regulated करता है ।
Communication ProtocolsTCP/IPTCP/IPTCP/IP
Costintranet and extranet से इसका cost बहुत ही कम होता हैएक्स्ट्रानेट की तुलना में कम और इंटरनेट की तुलना में अधिक।इंटरनेट और एक्स्ट्रानेट दोनों की तुलना में उच्च।

यह भी सवाल पूछे जाते है – People also ask

इंटरनेट के माध्यम से वार्तालाप करना क्या कहलाता है?

इंटरनेट के माध्यम से वार्तालाप करने को चैटिंग (chatting) कहलाता है। अगर इसको technically कहे तो “informal conversation” कहलाता है।

इंटरनेट का पुराना नाम क्या है? – The old name of Internet in Hindi?

इंटरनेट का पुराना नाम है the ARPANET(Advanced Research Projects Agency Network)। 1960 से लेकर 1983 सन तक internet को the ARPANET नाम से पुकारा जाता था। क्योंकि उस समय पूरा इंटरनेट को America control कर रहे थे। और इस the ARPANET America के एक संस्था थे। इसलिए उस समय internet का नाम था the ARPANET

इंटरनेट का जन्म कब हुआ या इंटरनेट का प्रथम बार कब प्रयोग हुआ?

पूरे world मे internet का प्रथम बार प्रयोग हुआ January 1, 1983 मे। क्यूंकी इस 1983 मे ही TCP model को इंटरनेट मे implement किया देआ था। अगर बात करे तो India मे इंटरनेट का प्रथम बार कब प्रयोग हुआ? उसका answer है- 15 August 1995 मे

इंटरनेट का आविष्कार किसने किया या इंटरनेट के फाउंडर कौन है? – who invented the internet In Hindi?

इंटरनेट का आविष्कार या इंटरनेट के Founder ईस दो इन्सानो को कहा जाता है, उसका नाम है Vint Cerf and Bob Kahn। और इस दो इन्सान को Father Of Internet भी कहा जाता है।

History of Internet in Hindi
Vint Cerf and Bob Kahn

इंटरनेट को कौन नियंत्रित करता है – Who control internet in Hindi?

सन 1990 से पहले पूरा internet की control America के Government करते थे। क्यूंकी internet का invented इसी country ने ही किया था। किन्तु 1990 के बाद America इस Internet को आपने पास नहीं रखके Worldwide में distribute कर दिया है। आज के समय मे इस पूरे internet को control कर रही ICANN (The Internet Corporation for Assigned Names and Numbers) नामक एक संस्था। इस संस्था पूरी तरह से Independent है, कोई Country इसे Control नहीं कर रही है। और इसी ICANN ही है जो internet को आज के समय में control कर रहा है।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप इंटरनेट क्या है – What is Internet in Hindi ? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बहुत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *