DHCP क्या है और कैसे काम करता है – What is DHCP in Hindi

What is DHCP in Hindi
Spread the love

आज हम एक interesting topic के बारे में बात करेंगे, बह topic है DHCP server क्या है और कैसे काम करता है (What is DHCP in Hindi)। DHCP server internet के एक ऐसा server है जो कंप्यूटर या smartphone को automatic IP address provide करने का काम करता है। तो चलिए इस article की विषयसूची देख लेते हैं। इस पूरे article की विषयसूची है – DHCP क्या है, DHCP के Components, DHCP कैसे काम करता है, DORA process क्या है, DHCP के Advantages etc. topics के बारे में।

DHCP in Hindi

DHCP क्या है – What is DHCP in Hindi

DHCP का Full from है Dynamic Host Configuration Protocol। DHCP protocol एक network management Protocol है जो नेटवर्क या internet को इस्तेमाल करने वाली कंप्यूटर या phones को automatic IP address देने का काम करता है। मतलब आप खुद ही जानते हैं कंप्यूटर को जब network के साथ युक्त किया जाता है तब उस कंप्यूटर को IP address देना परता है। किन्तु हम कभी computer को IP address manually नही देते हैं बह IP address automatic हमारे कंप्यूटर में assign हो जाता है। और बह IP address DHCP protocol assign करता है हमारे कंप्यूटर में।

आपको अगर IP Address के बारे में Details में जानना है तो इस Notes को Follow करो IP ADDRESS क्या है (WHAT IS IP ADDRESS IN HINDI) और उसके प्रकार?

DHCP in Hindi

DHCP कैसे काम करता है – How to works DHCP in Hindi

DHCP protocol network में present कंप्युटर को automatic IP address देने का काम करता है, बह आप पहले ही जान गए हो। किन्तु क्या आप यह जानते हो DHCP protocol किस way में या किस तरीकों से computer को IP address देते है। मेरे कहने का मतलब यह है DHCP protocol कैसे कंप्युटर को automatic IP address देता है? और अब हम उसी के बारे में जानेंगे।

देखिए दोस्तों, DHCP server या Protocol DORA process की help से computers को IP address provide करता है। सायद आप यह सोच रही हो न, यह DORA process क्या है? इहाँ पर DORA का full from है Discovery Offer Request Acknowledgement। मतलब इन चारों अलग अलग (Discovery Offer Request Acknowledgement) process की help लेके DHCP server या Protocol computers को automatic IP address provide करता है। अब हम देखेंगे इन चारों अलग अलग process में क्या होता है।

Related Notes –
  1. ROUTER क्या है और काम कैसे करता है- WHAT IS A ROUTER IN HINDI
  2. NETWORK DEVICES IN HINDI- ROUTER, MODEM, SWITCH, REPEATER
  3. NETWORK क्या है और कितने प्रकारके होते है – WHAT IS NETWORK IN HINDI
  4. TCP/IP MODEL क्या है – TCP/IP MODEL IN HINDI ?
  5. OSI MODEL क्या है – OSI MODEL IN HINDI?
  6. इंटरनेट क्या है और काम कैसे करते है – WHAT IS INTERNET IN HINDI ?

DORA process क्या है – DORA process in DHCP in Hindi

DHCP in Hindi
  • Discover
  • Offer
  • Request
  • Acknowledge

Discover

इस process में यह होता है जब कोई कंप्युटर internet या network के साथ युक्त होता है तब उस computer के पास कोई IP Address नहीं रहता है। IP address नहीं रहने की बजह से उस computer network में present अन्य computers या internet के साथ communicate या access नहीं कर पता है। क्यूंकी हम सभी ने जानते है computer के पास अगर कोई IP Address नहीं रहेगा तो उस computer अन्य computers या internet के साथ communicate नहीं कर पाएगा।

अब उस कंप्युटर क्या करेगा IP Address के लिए request भेजेगा। किसको ! DHCP server को। हम manually भी computer को ip address दे सकते है किन्तु बह IP address काम नहीं करेगा। क्यूँ काम नहीं करेगा, बह बाद में बताता हूँ। अब main मुद्दे पे आते है उस computer IP Address के लिए request तो भेजेगा किन्तु उस computer को यह तक भी नहीं पता है के DHCP server का ip address क्या है किन्तु उस computer को यह पता रहता है DHCP server का port number क्या है। DHCP server का port number है 68। अब उस कंप्युटर port number को लिखके एक discover broadcast massage send करेगा। किसको ! network में present सभी computers, servers को। के मुजे IP address चाहिए।

तो सभी computers, servers के पास बह discover massage जाएगा। कही न कही DHCP server के पास भी यह massage पौंचेगा। और सभी ने इस massage को ignore करेगा सिर्फ DHCP server इस massage को accept कर लेगा। क्यूँ! क्यूंकी उस computer ने massage में port number mention किया था।

Offer

जब DHCP server उस discover massage को पड़ेगा तब DHCP server को यह पता चल जाएगा के कोई कंप्यूटर ip address मांग रहा है। उसके बाद DHCP server क्या करेगा उस computer को एक IP address (192.168.10.1) Offer करेगा।

Request

जसे ही उस कंप्युटर के पास उस IP address (192.168.10.1) जाएगा बह accept कर लेगा। और फिर उस computer एक और broadcast massage network में भेजेगा और उस massage में यह लिखेगा के मुजे इस IP address (192.168.10.1) दे दीजिए मतलब बह computer उस IP address के लिए DHCP server के पास Request करेगा।

Acknowledgement

और जसे ही उस कंप्युटर के की गई request massage DHCP server तक पहुंचेगा, DHCP server massage को पढ़ के उस computer को एक और Acknowledgement massage भेजेगा। massage में DHCP यह लिखेगा – ठीक है मैं आपके computer पे इस IP address (192.168.10.1) को assign कर देता हूँ। और जैसे ही DHCP IP address assign कर देगा अब उस कंप्युटर internet या network को access कर पाएगा। और इस तरह से DHCP server computer को IP address देता है।

आपको एक और बात बता देता हूँ, जब कोई कंप्युटर को network के साथ जोड़ा जाता है तब तो इस पूरे process होके computer को IP address मिलता है। किन्तु इस process तब भी होता है जब computer को on किया जाता है।

Related Notes:-
  1. INTERNET की पूरी इतिहास – HISTORY OF INTERNET IN HINDI?
  2. TOPOLOGY क्या है ( TOPOLOGY IN HINDI) और कितने प्रकार के होते है ?
  3. VPN क्या है और कैसे काम करता है ? 
  4. TCP/IP MODEL क्या है – TCP/IP MODEL IN HINDI ?
  5. OSI MODEL क्या है – OSI MODEL IN HINDI?

DHCP के Components – Components of DHCP in Hindi

DHCP के कुछ important Components रहता है, जो computers को automatic IP address देने का काम करता है। DHCP के कौनसा Components क्या काम करता है चलिए देख लेते है –

  1. DHCP Server: इस component network device (Router) में run करता है। इसका काम होता है new devices को IP addresses देना और उस device से जूरे हुए information को store करके रखना ।
  2. DHCP client: इस component user या Clint के computer मे run होता है। इसका काम होता है DHCP server जब user या Clint के computer के लिए IP address generate करता है तब उस IP address को user या Clint के computer मे assign करना।
  3. IP address pool: इस component का काम होता है Server के पास कितना IP address अभी भी बचा हुआ है और उससे कितने clients को दिया जा सकता है उसको याद करके रखना।
  4. Subnet: इस component IP address या IP network को दो या दो से ज्यादा segments में logically divide करने का काम करता है। जिसे Subnet कहा जाता है। इससे network को manage करना बहुत easy हो जाता है।
  5. Lease: यह एक time होता है जिसमे DHCP Clint IP address की information को hold करके रखते है। और जब Lease सामन्त हो जाता है तो DHCP Clint को इसे दुबारा से renew करना परता है।
  6. DHCP relay: यह TCP/IP के एक protocol है, जो DHCP के massage को Clint और server के मध्य forward में करता है।

DHCP के Advantages – Benefits of DHCP in Hindi

Network में DHCP protocol run करने की बजह से users या Clint’s को बहुत सारे benefits मिलते है। उन सब benefits क्या क्या है चलिए देख लेते है-

  1. Centralized administration of IP configuration:– DHCP क्या करता है network में सभी commuters को दी गई IP address की सारे configuration को एक जगह में store करके रखते है। इससे क्या होता है administrator आसनिसे उस configuration की list को देख सकता है और manage कर पता है।
  2. Dynamic host configuration:- DHCP network में सभी clients computers को automatic IP address provide करता है। इससे user को हर बार Manually तरीकों से IP address assign करना नहीं परता है। DHCP की बजह से users के बहुत times save हो जाता है।
  3. Seamless IP host configuration:- DHCP तुरंत computers को IP address provide कर देता है। और यह सिर्फ IP address ही नहीं उसके साथ subnet mask, default gateway, DND server को भी automatics तरीकों से assign कर देता है।
  4. Flexibility and scalability: DHCP एक Flexible और scalable Protocol है। administrator चाहे तो DHCP की IP address देने की range को बदल सकता है और एक अलग range दे कर एक new network create कर सकता है।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप DHCP क्या है और कैसे काम करता है – What is DHCP in Hindi

? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बहुत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।

Related Notes –

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.