IP Address क्या है और इससे जुड़े हुए सारे Informations को जानिए

IP Address क्या है
Spread the love

आप अगर एक कंप्यूटर Networking के student हो और computer नेटवर्किंग को अच्छी तरह से समझना चाहते हो तो आपको पहले IP Address क्या है ( What is IP address in Hindi ) उसको अछि तरह से जानना पड़ेगा। क्योंकि एक computer network को establish करने के लिए सबसे जरूरी चीज होता है IP address। और आज हम जानेंगे उसी IP Address के बारे में। इस notes में basically हम ipv4 के बारे में बात करेंगे जो आज के समय में सभी network में इस्तेमाल हो रहा है।

चलिए जान लेते इस notes से आप क्या क्या जानोगे- IP Address क्या है (What is IP address in Hindi), IP Address के Version क्या क्या है , IPv4 क्या है, IPv6 क्या है, IPv4 की Classes, Loopback IP क्या है , कैसे आप कोई भी IP address का Class पता करोगे, IP Address की Network ID कैसे पता किया जाता है, Private IP क्या है, Public IP क्या है, NAT क्या है, Static IP क्या है ,Dynamic IP क्या है, IP Address कैसे पता कारे?

What is IP address in Hindi

IP Address क्या है – What is IP Address in Hindi ?

IP Address का Full From होता है Internet protocol Address। यह एक number है, जो आपकी device को आपके Network और दुनिया भर के अन्य Device से जोड़ने में मदद करता है। internet में इस IP address के through ही आपके device को identify किया जाता है।

आपको एक example देके समझाता हूँ – देखिए दोस्तों, आज के समय में हम सभी ने Online Shopping करते है । Online Shopping में क्या होता है? हम जब भी कोई product का order करते है तब company बाले हमारे से हमारा address लेते है क्यूंकि company बाले उस address मे ही हमारा product deliver करता है।

ठीक उसी किस्सा internet मे भी होता है हम जब भी कोई query google मे करते है तब google बाले हमारे से हमारा device की IP address लेते है (But बह address हमको manually देना नहीं परता है बह automatically ले लेता है ) और बाद मे google हमारे query को solve करके हमारे device की IP Address मे भेज देते है। और हम हमारे browser में उस query answer देख पाते है।

क्या आपको पता है Internet की शुरूयत कहाँ से हुआ? आपको अगर नहीं पता है तो आप नीच मे दी गई Notes को एकबार पढ़ो आपको पूरी तरह से पता चल जाएगा Internet की पूरी इतिहास

IP address कितने प्रकार के होते है – Types of IP address in Hindi ?

IP address क्या है बह हम जान गए है। अब हम जानेंगे IP address के प्रकारभेद। देखिए दोस्तों, दो प्रकार के IP address हमे देखनेको मिलता है – एक IPv4 और दूसरा IPv6

IPv4 क्या है – What is IPv4 in Hindi

IPv4 का full form होता है Internet Protocol version 4। इस IP version 4 को बनाया गेआ था 1980 मे और अभी भी internet मे इस version का इस्तेमाल हो रहा है। IPv4 एक 32 bit का address है और इस Address कुछ इस तरह से दिखाई देता है- 172.16.254.1

, जिसे 4 भागों में विभाजित कर दशमलव से अलग किया जाता है। तथा प्रत्येक octet मे 0 से लेकर 255 तक numbers होती है। जिसमें प्रत्येक भाग 8 Bits का होता है। ipv4 decimal format मे होता है।

अगर हम बात करे IPv4 की, जो आजके समय मे internet पर use हो रहा है। उस IPv4 से केवल 4 बिलियन device को ही IP address दिया जा सकता है। आप सोच रहे हो यह संख्या बहुत है but Modern World के लिए यह संख्या काफी नहीं है। आज के समय में प्रत्येक user के पास एक से ज्यादा डिवाइस मौजूद है, जोकि Internet का इस्तेमाल कर रहा है।

और पूरे world में 7 billon people रहता है। अगर प्रत्येक लोग एक भी डिवाइस का इस्तेमाल करें तब भी IPv4 100% people को IP Address प्रदान करने में सक्षम नहीं है। और इस problem को solve करने के लिए Implement किया गया है IPv6 की। जो धीरे धीरे Internet मे implement हो रहा है।

IPv4 के बारे में कुछ important बात –

  • IPv4 32-bit का address होता है ।
  • IPv4 कुछ इस तरह से दिखाई देता है- 172.16.254.1,
  • जिसको 4 भागों में विभाजित किया गेआ है।
  • तथा प्रत्येक octet मे 0 से लेकर 255 तक numbers होती है।
  • जिसमें प्रत्येक भाग 8 Bits का होता है।
  • ipv4 decimal format मे होता है।

IPv6 क्या है – What is IPv6 in Hindi

IPv6 होता है एक 128 bit का address। IPv6 कुछ इस तरह से दिखाई देता है- 2001:0db8:85a3:0000:0000:8a2e:0370:7334। जिसे 8 भागों में विभाजित कर दशमलव से अलग किया जाता है। जिसमें प्रत्येक भाग 16 Bits का होता है। ipv6 hexadecimal format मे होता है। IP version 6 Support करता है करीब 340 ट्रिलियन address को। जोकि होता है 340 और उसके साथ 12 Zero(0)। इसका मतलब की अगर world के प्रत्येक इंसान लाखो device को internet के साथ Connect करता है तब भी IP address की कोई कमी नहीं होगी।

ईस Notes मे हम IPv4 के बारे मे details मे बात करेंगे। तो चलिए शुरू करते है-

IPv4 की Classes – IPv4 address classes in Hindi?

पहले हम जान लेते है IPv4 की Class के बारे मे। Basically IPv4 को पाँच class मे बिभाजित किया गेया है। तथा Class-A, Class-B, Class-C, Class-D, Class-E। और हर एक class की एक अलग अलग range होती है। इन पांचों class मे से normal people 3 class को ही use कर सकते है- class-A, class-B, class-C, और बाकी दो classes normal people use नहीं कर सकते है। क्यूंकी Class-D reserved for multicasting and class-E experimental के लिए reserved है। तो चलिए IP Address के अलग अलग classes की range को जान लेते है –

Class A

Class A की range शुरू होती है 1.0.0.0 से लेकर 127.0.0.0 तक। IPv4 के सभी class की range में से इस class की range सबसे बढ़ी है। इस class के range की IP को बही company खरीदते है जिसकी users या hosts संखा बहुत ज्यादा हो। मतलब इस class की IP address से लगभग 16,777,214 users या hosts को connect किया जा सकता है। इस class की ip address को Google, YouTube जैसी बढ़े बढ़े organization खरीदके इस्तेमाल करते है।

Class B

Class B की range शुरू होती है 128.0.x.x से लेकर 191.255.x.x तक। इस class की ip address को medium size के organization या company खरीदके इस्तेमाल करते है। इस class की IP address से लगभग 65,000 users या hosts connect हो सकता है।

Class C

Class C की range 192.0.0.x से लेकर 223.255.255.x तक फैली हुई है। इस class की ip address small size के organization या company खरीदके इस्तेमाल करते है। इस class की IP address से लगभग 254 users या hosts connect हो सकता है।

Class D

Class D की range शुरू होती है 224.0.0.0 से लेकर 239.255.255.255 तक। जैसे की मैंने पहली ही बोला है इस range की कोई IP address को normal people इस्तेमाल नहीं कर सकता है। क्यूंकी इस class की सभी IP address multicasting के लिए reserved किया गेआ है।

Class E

Class E की range शुरू होती है 240.0.0.0 से लेकर 255.255.255.254 तक। इस range भी normal people के लिए blocked है। क्यूंकी इस class की सभी IP address को भविष्य में research और development purposes में इस्तेमाल करने के लिए reserved कर दिया गेआ है।

What is IP address in Hindi

ऊपर में दिया गेआ IP address class कि chart को आप अगर बारीकी से देखोगे तो एक IP address missing दिखाई देगी । और बह IP address है 127.0.0.0 -127.255.255.255 कि पूरा range।

Loopback IP क्या है -What is Loopback IP in Hindi

127.0.0.0-127.255.255.255 इस IP की range को Loopback IP कहा जाता हैं । इस IP का इस्तेमाल motherboard के अंदर LAN IC सही तरह से work कर रही है की नहीं उसको check करने के लिए किया जाता है। मतलब हमारे motherboard के अंदर एक LAN IC रहता है जिस IC की बजह से हम computer मे internet चला पाते है और उस LAN IC सही तरह से work कर रही है कि नही, उसको check करने के लिए इस Loopback IP का इस्तेमाल किया जाता है।

LAN IC ठीक से work कर रही है, कि नहीं उसे check करने के लिए आपको Command prompt मे जाना परेगा। command prompt मे जाने के लिए आपको Window key+ R एकसाथ press करना होगा। press करने के बाद आपको cmd लिख कर enter करना परेगा । जैसे ही command prompt open होगा और आपको उस prompt मे type करना होगा – ping 127.0.0.1 फिर enter करना होगा।

ping अगर successful होता है तो आपका LAN IC एकदम Perfect है, Ping unsuccessful दिखा रहा है तो आपका LAN IC fault है। एक बाद की ध्यान आपको रखना होगा आप जिस समय यह IC को check कर रही हो, उस समय आपका internet की connection सही रहना चाहिए। कुछ इस तरह दिखेगा

What is IP address in Hindi

आपको अगर Networking मे Extra Ordinary बनना है तो आप नीच मे दी गई notes को follow करो-

  1. ROUTER क्या है और काम कैसे करता है- WHAT IS A ROUTER IN HINDI
  2. NETWORK DEVICES IN HINDI- ROUTER, MODEM, SWITCH, REPEATER
  3. NETWORK क्या है और कितने प्रकारके होते है – WHAT IS NETWORK IN HINDI
  4. TCP/IP MODEL क्या है – TCP/IP MODEL IN HINDI ?
  5. OSI MODEL क्या है – OSI MODEL IN HINDI?
  6. TOPOLOGY क्या है ( TOPOLOGY IN HINDI) और कितने प्रकार के होते है ?

कैसे आप कोई भी IP address का Class पता करोगे- How to identify the IP class from a given IP address in Hindi?

आपको अगर कोई भी IP address का class find out करना है तो आपको IP address की class की range को follow करना होगा। नीच मे दी गई IP address की chart को आप अगर follow करते हो तो आप कोई भी IP address की class easily find out कर सकते हो। तो कैसे find out करना है चलिए जान लेते है-

What is IP address in Hindi

इस IP का Class क्या है- 172.16.25.12?

आप अगर इस IP किस class की है बह जानना है तो आपको इस IP की पहला octet को follow करना होगा। यहां पर दिए गए IP का पहला octet है 172, इसका मतलब यह IP class B की range में पढ़ती है। B का Range- 128 से 191 तक है ,मतलब 172 digit class B के अंदर पढ़ती है। इसी तरह आप कोई भी IP का Class Find Out कर सकते हो।

For example:- 2. 12.251.14.78 ये किस class की ip है ?

vary simple – आप पहले octet या घर को देखो, बाकी 3 octet को as it is छोर दो । पहले octet मे 12 लिखा है that means ये class A की IP address है।

IP Address की Network ID कैसे पता कारे- How to find the Network ID of an IP address in Hindi

और एक important topic जो आपको जान लेना जरूरी है। क्यूंकी Interview मे ए सवाल अक्सर पूछा जाता है , interviewer आपको एक IP- 145.25.248.12 दे कर बोल सकता है इसकी IP का Network ID क्या है ? आप कैसे इस Question का answer सही से दोगे चलिए आज आपको बता ही देते है।

What is IP address in Hindi

देखिए दोस्तों, इस सवाल का answer देने के लिए आपको पहले ऊपर मे दी गई chart को follow करना परेगा। chart मे Class-A का 1 Octet, Class-B का 2 Octet, Class-C का 3 Octet network के लिए Reserved है। जिस class की जितनी octet या घर Network के लिए Reserved है बह octet मे लिखा हुआ number मे कोई change नहीं होगि उस Octet पर जो Number लिखा है बह number as it is रहेगा। जिस octet पर host लिखा है बह change हो कर 0 होगा।

ऊपर मे दी गई IP का (145.25.248.12) Network ID find out करने के लिए आपको पहले दिए गए IP किस class की है बह निर्धारित करना होगा । IP का Class कैसे निर्धारित करते है बह आप जान गए हो –

145.25.248.12 – दिए गए IP class B का है ओर Network ID find out करने के लिए ऊपर मे दिए गए Chart को follow करो Class B मे 2 octet network के लिए reserved है मतलब इस IP का network ID होगा –145.25.0.0। इसी तरह आप कोई भी IP का network ID find out कर सकते हो । कोई भी IP का network ID find out करने के लिए जिस class की जितनी octet या घर Network लिखा है बो octet कोई change नहीं होगा। जिस octet पर host लिखा है बह change हो कर 0 होगा।

For Example- a) 14.24.26.41 इस ip का Network id or class ये होगा b) 194.214.26.141 इस का Network id or class ये होगा

Ans:- a) ईस IP का class है – A । ओर network ID है -14.0.0.0। b) ईस IP का class है – C ओर network ID है -194.214.26.0

IP address की प्रकार- Types of IP address in Hindi

IPv4 address दो प्रकार के होते है। एक Public IP और दूसरा Private IP

Public IP क्या है? (What is Public IP in Hindi)

internet access करने के लिए IP address खरीदना परता है और जो IP address को हम खरीदते हैं उसे कहा जाता हैं Public IP। Internet access करने के लिए public ip mandatory है। but public IP बहुत costly होता है बड़े बड़े company या service provider Public IP address को खरीदते है।

आप यह सोच रही हो के इस Public IP address कहाँ से खरीदते है ? Ans- सारे बड़े बड़े company’s या ISP Public IP IANA (Internet Assigned Numbers Authority) नामक एक worldwide organization से खरीदते है।

हम जानते है आपके मन मे और एक सवाल है बह है, आप यह सोच रही हो- हम तो कोई IP address नहीं खरीदते है किन्तु तभी भी हम हमारे phone या PC से internet का इस्तेमाल करते है बह कैसे possible हो पता है? देखिए दोस्तों, हम सब भी Public IP के through internet access करते है किन्तु उस Public IP address हम नहीं खरीदते है , बह खरीदते है हमारे ISP ने।

ISP मतलब हम जिस company का sim use कर रहे है। जैसे- Jio, Airtel, BSNL, VI, etc। और ISP के public IP address के through ही हम internet access कर पाते है। आपको जान लेना जरूरी है एक Public IP address के through लाखों devices को connect किया जा सकता है। और हम जो IP का इस्तेमाल करते है बह होता है Private IP

Private IP क्या है -What is Private IP in Hindi?

Private IP address का मतलब जो IP आपको खरीदना नहीं पड़ता मतलब जिस IP को हम free में use कर सकते हैं उसे कहते हैं Private IP। मान लीजिए आपका एक small business है उसमें 50 computer है, आप अगर बिना internet use कीये उन सभी कंप्यूटर को आप आपस में जुड़ना चाहते हो और communicate कराना चाहते हो तो आपको नीच मे दी गई Private IP की कोई Class या range को इस्तेमाल करके उन सभी computer को जोड़ना परेगा। क्योंकि Privet IP address same network मे मोजूत डिवाइसो के बीच communicate established करने मे सक्षम है।

आपको अगर different network मे मोजूत डिवाइसो के बीच communicate established करनी है तो आपको जरूरत परेगी public IP की। एक बात आपको आछे से जान लेना चाहिए Private IP से internet access किया नहीं जा सकता है। उसके लिए चाहिए Public IP

Private ip address एक अलग सी range होता है और उस Range मे से आप कोई एक range को choose कर सकते हो।

Private IP की class

NAT क्या है – What is NAT in Hindi?

NAT का full from है-Natwork Address Translator। full from से ही एक बात clear है ,ये NAT कुछ चीज translate करता है। असाल मे NAT का काम ये है हमारे private IP को public IP मे और public IP को private IP मे convert करना।

IP Address in Hindi

Computer में IP Address को कैसे assign करते है – How to assign IP Address to Computer in Hindi

computer पर internet access करने के लिए आपको पहले आपके Computer मे IP address assign करना परेगा, उसके बाद ही आप आपके computer से internet को access कर पाओगी। और Computer मे IP Address assign करने की दो तरीका है। एक statically IP assigned और दूसरा dynamically IP assigned। चलिए statically IP assigned और dynamically IP assigned क्या है जान लेते है-  

Static IP क्या है -What is Static IP in Hindi?

static का मतलब जो change नहीं होता। मतलब एक बार system मे IP को assign करने के बाद बह IP आसानिसे change नहीं होता है । आपको सहज शब्दों मे कहूँ तो जो IP address हम manually assign करते है हमारे computer मे बह static IP assign होता है। इस static IP कभी change नहीं होता एक ही रहेता है । अब कैसे Static IP को assign किया जाता है चलिए देख लेते है-

  1. Click Control Panel.
  2. On the control panel, then click Network and Internet or Network and sharing center
  3. Then click Connection (Ethernet or WIFI)
  4. Click Properties – Select Internet Protocol version 4 (TCP/IP) – and then click Properties.
  5. Select Use the Following IP Address.
  6. Complete the IP addressSubnet mask, and Default gateway fields by using the values in step 4 from Accessing the ASMI using a Web Browser.
  7. Click OK on the Local Area Connection Properties window. It is not necessary to restart your PC.

Dynamic IP क्या है- What is Dynamic IP in Hindi?

Dynamic का मतलब जो change होता रहेता है। जिस IP address को हम manually assign नहीं करते है automatic assign हो जाता है DHCP की मदद से हमारे device मे, उसे कहते है Dynamic IP। DHCP server automatic IP generate करते है हमारे device मे। हम जब भी हमारे system को internet से connect करते है DHCP server automatic एक IP assign कर देते है । particular कोई एक ही IP आपकी device को नहीं मिलता है time by time change होता रहेता है।

Computer की IP Address कैसे पता कारे- How to Find My computer IP Address in Hindi

दो तरीकों से आप आपके ip address पता कर सकते हो — 1. Command Prompt 2. Google

  1. पहले आप Window+R press की जिए ओर type की जिए- cmd उसके बाद Enter। Command prompt open होगा उन्हा पर लिखिए-ipconfig उसके बाद Enter press की जिए । आपको दिख जाएगा आपके कंप्युटर की ip address। जैसे आप नीच में देख रही हो –
What is IP address in Hindi?

2. Google मे जा कर लिखिए- whatismyipaddress लिख कर search की जिए । फिर पहले link पर Click की जिए ओर देख ली जिए आपका IP address। website की Link देता हूँ – whatismyipaddress

IPv4 और IPv6 के बीच की अंतर – Difference between IPv4 and IPv6 in Hindi

IPv4IPv6
IPv4 32-bit का address होता है ।IPv6 128-bit का address होता है ।
इस में Manual और DHCP address configuration Supported है।और दूसरी तरफ इस में Manual DHCP address configuration तो supported नहीं है, किन्तु इसमे auto DHCP address configuration Supported है।
IPv4 की Security feature application के ऊपर depend रहता है।किन्तु IPv6 security feature IPv6 protocol में ही inbuilt रहता है।
IPv4 की address decimal format में है।IPv6 की address hexadecimal format में है।
IPv4 में checksum field available है।और IPv6 में checksum field available नहीं है।
इस address में broadcast Message Transmission Scheme available है।इस address में broadcast को छोर कर Any cast और Multicast Message Transmission Scheme available है।
IPv4 में डाटा की Encryption और Authentication facility available नहीं है।किन्तु IPv6 में Encryption और Authentication facility available है।
 
IPv4 की header 20-60 bytes का होता है।IPv4 की header 40 bytes का होता है।

यह भी सवाल पूछे जाते है – People also ask

IP Address के Version 6 में कितने बिट होते हैं ?

IP Address के Version 6 128 bit का होता है।

IP Address Full Form in Hindi ?

IP Address का full from है – Internet Protocol address

इंटरनेट का पुराना नाम क्या है? – The old name of Internet in Hindi?

इंटरनेट का पुराना नाम है the ARPANET (Advanced Research Projects Agency Network)। 1960 से लेकर 1983 सन तक internet को the ARPANET नाम से पुकारा जाता था। क्योंकि उस समय पूरा इंटरनेट को America control कर रहे थे। और इस the ARPANET America के एक संस्था थे। इसलिए उस समय internet का नाम था the ARPANET

इंटरनेट का जन्म कब हुआ या इंटरनेट का प्रथम बार कब प्रयोग हुआ?

पूरे world मे internet का प्रथम बार प्रयोग हुआ January 1, 1983 मे। क्यूंकी इस 1983 मे ही TCP model को इंटरनेट मे implement किया देआ था। अगर बात करे तो India मे इंटरनेट का प्रथम बार कब प्रयोग हुआ? उसका answer है- 15 August 1995 मे

इंटरनेट का आविष्कार किसने किया या इंटरनेट के फाउंडर कौन है? – who invented the internet In Hindi?

इंटरनेट का आविष्कार या इंटरनेट के Founder ईस दो इन्सानो को कहा जाता है, उसका नाम है Vint Cerf and Bob Kahn

। और इस दो इन्सान को Father Of Internet भी कहा जाता है।

History of Internet in Hindi
Vint Cerf and Bob Kahn
इंटरनेट को कौन नियंत्रित करता है – Who control internet in Hindi?

सन 1990 से पहले पूरा internet की control America के Government करते थे। क्यूंकी internet का invented इसी country ने ही किया था। किन्तु 1990 के बाद America इस Internet को आपने पास नहीं रखके Worldwide में distribute कर दिया है। आज के समय मे इस पूरे internet को control कर रही ICANN (The Internet Corporation for Assigned Names and Numbers) नामक एक संस्था। इस संस्था पूरी तरह से Independent है, कोई Country इसे Control नहीं कर रही है। और इसी ICANN ही है जो internet को आज के समय में control कर रहा है।

  1. BOOTING PROCESS क्या है – WHAT IS BOOTING PROCESS IN HINDI?
  2. BIOS को कैसे UPDATE किया जाता है- HOW TO UPDATE BIOS IN HINDI?
  3. KERNEL क्या है – WHAT IS KERNEL IN HINDI?
  4. VPN क्या है और कैसे काम करता है ? WHAT IS VPN IN HINDI
  5. FIRMWARE क्या होता है – WHAT IS FIRMWARE IN HINDI
  6. PROTOCOL क्या है (WHAT IS PROTOCOL IN HINDI) और उसके प्रकार?

Conclusion

उम्मीद करता हूँ, आप IP Address क्या है – What is IP address in Hindi? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.