मैलवेयर क्या है और कैसे इससे बचा जाए जानिए पूरे जानकारी के साथ

malware in Hindi
Spread the love

आज हम एक interesting Topic के बारे में बात बाले है, और बह topic है मैलवेयर क्या है और कैसे इससे बचा जाए। देखिए दोस्तों, आज की online दुनिया में हमारे कोई भी personal डाटा सुरक्षित नहीं है। किसी भी समय बह डाटा चोरी हो सकता है। और बह personal डाटा आपने आप ही hackers के पास नहीं जाता है। हमारे द्वारा की गई कुछ नासमझी गलती ओ की बजह है बह डाटा चोरी होता है।

किन्तु आप अगर चाहते हो की आपके personal डाटा चोरी न हो तो आपको कुछ सावधानी बरसनी होगी आपके online कार्येक्रम के ऊपर। तो चलिए उन सब तरीकों के बारे में जान लेते है जिससे आप मैलवेयर से आपने डाटा को बचा सकते हो। किन्तु इससे पहले हम जानेंगे मैलवेयर क्या है, Malware के अलग अलग प्रकार, और malware कैसे कंप्युटर या phone में घुसता है। तो चलिए शुरू करते है –

 malware in Hindi

मैलवेयर क्या है – What is malware in Hindi?

Malware एक प्रकार के malicious या दखलंदाजी software है। इस तरह के software अगर कंप्युटर या सर्वर में घुसता है तो system की normal functioning को disturb कर सकता है, आपके कार्यक्रम के ऊपर जासूसी कर सकता है, और साथ ही साथ कंप्युटर की valuable data को corrupts भी कर सकता है। और इस तरह के malicious software का example है –  viruses, worms, Trojan viruses, spyware, adware, और ransomware। Malware को virus भी कहा जाता है।

Virus का नामकरण किसने किया था?

Virus का पहला नामकरण किया था America के एक scientist Frederick B. Cohen ने,सन 1983 में। इन होने सबसे पहले इस तरह के malicious software का नाम Virus रखा।

VIRUS का full from क्या है ?

Vital Information Resources Under Seize.

दुनिया के सबसे पहला Network virus का नाम क्या था और किसने invent किया था ?

दुनिया के सबसे पहला virus का नाम था Jeepers Creepers ,जो network speared हुआ था। और इस virus को invent किया था  Bob Thomas, सन 1971 में। और इस virus का tag line था “I’m the creeper, catch me if you can!”

दुनिया के सबसे पहला Computer virus का नाम क्या था और किसने invent किया था ?

दुनिया के सबसे पहला Computer virus का नाम था ALK COLNER। और इस virus को invent किया था Rich Skrenta, सन 1982 में

यह भी पड़े –

Malware के प्रकार – Types of malware in Hindi

आज के समय में जो जो malware के types users या organization की system को बुरी तरह से effect कर रहा है उसी को मैं इस topic में Touch करूंगा। और तो और उन malware किस तरह से कंप्युटर में घुसता है बह भी with picture के साथ बताऊँगा। तो चलिए उन सब dangerous malware के types को जान लेते है –

 malware in Hindi

Virus in Hindi

Virus एक तरह के program या code होता है जो software या txt file के अंदर में insert रहता है। और बह software या text जब कंप्युटर में install होता है तब उस सॉफ्टवेयर के अंदर की program या code आसली खेल शुरू करता है। उस program या code कोई भी valuable डाटा को encrypt, corrupt, delete और move करने की क्षमता रखती है।

Malware in Hindi
Mails पे send की गई software या txt file को आप अगर download या open करते हो तो PC में virus चला जाता है।

Pro Tips – सन 2000 में ILOVEYOU नामक एक virus millions of computers को effect किया था। जो LOVE-LETTER-FOR-YOU.TXT नाम से spread किया गया था जो email के माध्यम से send किया गया था।

Adware in Hindi

Malware के दूसरा types है Adware। इस Adware का काम होता है unwanted या malicious advertising को कंप्युटर की screen में serve करना। इस तरह के Ads continuously कंप्युटर के home screen आता रहता है जो बह बहुत irritative और spams है। users अगर गलती से इस तरह के ads पर click कर देता है तो बह ads आपको एक harmful website में ले जाता है इस Adware कंप्युटर के performance को भी बहुत down या fregg कर देता है।

types of Malware in Hindi
इस तरह के unwanted notification को आप अगर allow करते हो तो PC में तरह तरह के ads show होने की संभबना रहता है। और इस तरह के unwanted notification movie downloading websites में ज्यादा आता है।

Worms in Hindi

Virus की तरह ही होता है Worms। किन्तु Worms और Virus के बीच एक ही फरक है और बह है Virus spread नहीं करता है मतलब virus कोई particular file या software को corrupt करने के लिए design किया गया है किन्तु worms spread करता है मतलब Worms खुद को multiply

बनाने की कौसिस करता है।

Malware in Hindi
Mails पे send की गई software या txt file को आप अगर download या open करते हो तो PC में Worms चला जाता है।

इसका काम होता है ज्यादा से ज्यादा systems को spread होना और spread होके डाटा को Delete or modify करना, data को Steal कर देना, hackers के लिए backdoors create करना, कोई folders को continuously based पर copy करते रहना, etc। और virus जिस तरह से spread होता है इस worms भी उस तरह से ही spread होता है। (मतलब Software, email, etc.)

Pro Tips – सन 2003 में SQL Slammer नामक एक Worms spread हुआ था जो 10 minutes के अंदर ही अंदर thousands of servers को impacted किया था।

Trojans in Hindi

Trojans भी एक dangers malware है जो भेस बदल के आपके कंप्युटर में आता है। आपको लगता है बह एक अलग genuine software है किन्तु backend में आपके कंप्युटर को बुरी तरह से नुकसान पहुँचाती है। सायद आपने देखा होगा आप जब जब कोई unauthenticated website जाते हो तो उस website में अजनक एक notification आ जाता है के आपके phone या computer में memory full हो गया है आप तुरंत इस software को डाउनलोड करे।

आप अगर गलती से उस software download करते हो तो बह software backend में आपके कंप्युटर के डाटा को damage, disrupt, steal, और inflict करता है। और इस Trojans virus email attachments, website downloads, और direct messages के जरिए spread होता है।

Malware in Hindi
Browser के screen पर अजानक इस तरह के display आ जाते है और hackers users को fake notify करते है के software outdated हो गया है इस software को download कर लीजिए। और user अगर इस software को download करता है तो तो PC में Trojan virus जाने की संभबना रहता है।

Pro Tips – सन 2011 में ZeuS/Zbot, नामक इस software एक banking के server में install हो गया था, जिसके मकसद था users की account में पड़ी हुई balances को चोरी करना।

Ransomware in Hindi

internet की दुनिया में सबसे खोफनक malware है Ransomware। इसका काम होता है network के जरिए server में घुस के Server की सभी डाटा को चोरी करना। और बाद में hacker उस डाटा की बदले में बहुत सारे पैसे की demand करना। और यह सब process पूरा silently होता है, user कोई पता नहीं चलता है के उसका personal data कोई चुरा रहा है। इस Ransomware virus email attachments, software’s downloads, और direct messages के जरिए spread किया जाता है।

Malware in Hindi
इस massage को आप एकबार पड़ लीजिए तो आप समझ जाओगे Ransomware कितना खतरनाक virus है।

users अगर गलती से इस तरह से virus को download और install करता है उसके बाद users की पूरी devices को Hold या hostage करना, उसके बाद users की data को encrypted कर देना, और end में बहुत सारे पैसे की demand करना

Pro Tips – सन 2021 की may में hackers ओ ने Ransomware द्वारा CNA financial corporation नामक company को attack किया था। और इस attack को world के सबसे बड़ा financial loss attack कहा जाता है। hackers ओ ने $40 million dollar का demand किया था।

Spyware in Hindi

देखिए दोस्तों Spy का मतलब ही होता है जासूस। ठीक इसी तरह Spyware User के जानकारी या अनुमति के बिना Users की valuable information के ऊपर जासूसी करते है। और user को इस चीज का कुछ भी पता नहीं चलता। इहाँ पर valuable information का मतलब Users के credit card या banking information, web browsing data, अलग अलग accounts के User name & Password, etc. को कहा जा रहा है। और बाद में Hackers इन सब information’s का इस्तेमाल करके users के साथ धोखाधड़ी करते है।

Bots या botnets in Hindi

Botnets दो शब्द से बनी हुई होती है – एक Bot जिसका मतलब होता है Robot, और दूसरा net जिसका मतलब होता है network। पहले Robot कैसे काम करते है उसको समझते है – देखिए दोस्तों, Robot command के based पर काम करता है। मतलब Robot से काम कराने के लिए command देना परता है, क्यूँकी Robot के पास आपना दिमाग नहीं होता है। और इसी का फायदा उठाते है cybercriminals ने। बह software के माध्यम से बहुत सारे Bots Army तैयार करते है और बाद में उन सब bots को malicious coding या programming

द्वारा management या प्रबंधन करते है।

और जब Bots Army तैयार हो जाते है तब उन सब Army किसी particular कंप्युटर या server पर attack करते है। attack मतलब उन bot army उस कंप्युटर या server पर continuously request send करते रहते है। जिससे क्या होता है उस कंप्युटर या server stuck या hang हो जाता है।

Related Notes

कैसे पता चलेगा कंप्युटर virus से effected हुआ है – How to know my computer is virus infected in Hindi?

हम आपको ऐसी बहुत सारे signs या लक्षण के बारे में बताने बाला हूँ जिसके जरिए आप पता लगा सकते हो के आपके computer या laptop malware या virus द्वारा infected हुआ है। तो चलिए उन सब signs या लक्षण के बारे में जान लेते है –

  • computer की performance आगे तुलना में slow हो जाना। (आप अगर जानना चाहता हो आपका system का performance कैसा जा रहा है ? तो आप बिना किसी program को run न किए ctrl+shift+esc key को एकसाथ press की जिए और देखिए system का performance कैसा जा रहा है। अगर सब कुछ normal है तो ठीक है, और अगर कोई section का performance high तो समझ लीजिए आपका system virus के द्वारा infected हुआ है).
  • Sudden कंप्युटर shutting down और restarting हो जाना।
  • कंप्युटर के कोई important file Missing जो जाना।
  • Frequent system में तरह तरह के crashes और error messages आना।
  • Unexpected या अजनक pop-up windows कंप्युटर की screen पे आ जाना।
  • system freeg हो जाना।
  • New application जो आपके द्वारा download किए बिना दिखाई देना।
  • आपके Emails पर autonomously या स्वायत्त massage आना।
  • Browser अजनक lag या freeg हो जाना।
  • control panel या antivirus software (Windows defender) को open न कर पाना या open न होना।

Malware से आपने system को कैसे बचाए – How do I protect my network against malware in Hindi?

हम इस एक article में अलग अलग malware या virus से जिस तरीको से बचा जाता है उन के बारे में बात करने बाले है। आप अगर उन सभी तरीका को आपना ओगे तो आप सभी तरह के malware या virus से आपने system को protect कर सकते हो। और एक बात इन सब तरीकों के साथ आप अगर ऊपर में दी गई pictures को देखोगे तो आपको आसानी होगी सब कुछ अछि तरह से समझने में। तो चलिए बिना किसी देर के उन सभी तरीका क्या क्या है उसको जान लेते है –

malware in Hindi

Viruses और Worms :- आप पहले ही जान चुके हो virus और Worms software या txt file की रूप से कंप्युटर में घुसता है। तो इसलिए आप जब भी software या txt file download करोगे तब आप एक authentic या Official Website से ही software download करे, क्यूँकी बह एकदम safe होता है। आप अगर इस चीज को follow करते हो तो आपके कंप्युटर virus free रहेगा।

Adware :- unwanted या malicious advertising से बचने के लिए आपको इस तरह के notification को allow न करे। और इस तरह के notification Movie downloading और software downloading website में ज्यादा आता है। इसलिए उन websites को थोरा avoid करे।

Trojans :- Trojans भी notification के आकार में users के सामने आता है और users के सामने अलग अलग warning massage देखता है के आपके phone या computer में memory full हो गया है आप तुरंत इस software को डाउनलोड करो या आपके phone या computer को clean या speed up करो इस software के जरिए। आप इन सब डराबनी मैसेज को उस software को download और install करते हो आपके computer में Trojans चला जाएगा और आपके system को crash कर देगा।

और इस तरह के डराबनी notification Movie downloading और software downloading website में ज्यादा आता है। सभी software downloading website नहीं आता है unauthentic या unofficial Website में ज्यादा आता है।

Ransomware :- देखिए दोस्तों Ransomware virus कोई system या server में घुसने के लिए उस system या server की weak हिस्सा या weak programming को डुंडता है क्यूँकी उस weak programming को crack करके ही hackers Ransomware virus को system या server में घुसाता है। एक normal users के यह सब कुछ (मतलब system या server की weak programming को) दुंद पना बहुत मुस्किल है। इसलिए आप अगर इन सब चीजों को पहले से ही apply करके रखते हो तो Ransomware

attack होने के बाद भी आपका कुछ नुकसान नहीं होगा –

  • हम सब जानते है Ransomware पहले users की पूरी devices को Hold या hostage करता है, उसके बाद users की data को encrypted कर देता है और end में बहुत सारे पैसे की demand करता है। तो आप पहले से ही आपके डाटा एक backup drive create करके रखे।
  • आपके सभी account के password को time by time बदलते रेह।
  • Registry Values को Delete कर दी जिए।
  • किसी तरह के unwanted links पर click न करे।

Spyware :- इस virus से बचने के लिए नीच की points को follow करो –

  • आपके सभी account के password को time by time बदलते रेह।
  • browsing history को Delete कर दी जिए।
  • किसी तरह के unwanted links पर click न करे।
  • antivirus software को इस्तेमाल करे।
  • public Wi-Fi को इस्तेमाल न करे।
  • two-factor authentication enable करके रखे।

कैसे Malware को कंप्युटर से remove करे – How to remove malware in Hindi

देखिए दोस्तों, malware अगर कंप्युटर घुस गया है तो आपके पास बहुत कम option बचता है उस malware को remove करने की। फिर भी आप ईन तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हो –

  1. एक अच्छा सा Antivirus को खरीद के इस्तेमाल कर सकते हो और उससे malware को system से remove कर सकते हो।
  2. safe mode में कंप्युटर को on की जिए और सभी software को uninstall करके देखिए क्या होता है।
  3. internet को disconnect करके windows defender या antivirus से system को scan की जिए।
  4. सभी temporary files delete कर दी जिए।
  5. activity monitor open करके देखिए कौनसा unwanted program ज्यादा resources इस्तेमाल कर रहे है। और उस पर right click करके end task कर दीजिए। (ctrl+shift+esc key को एकसाथ press की जिए और देखिए system का performance कैसा जा रहा है)
  6. browsing history को Delete कर दी जिए।

Malware को किस तरह से Delivered किया जाता है – How Is Malware Delivered in Hindi?

Basically पाँच तरीकों की मदद से Malware को हमारे system में deliver किया जा सकता है । और बह पाँच तरीका है –

  1. Email phishing :- आज के समय में Malware Delivered करने की सबसे famous तरीका बन गया है Email phishing। hackers ओ ने क्या करता है Email की मदद लेकर users को massage और उसके साथ एक link send करता है। For example – जिस massage पर कुछ इस तरह के bank related information भी लिखा हुआ रहता है के ‘आपके ATM card की password expiated हो गया है, इस link को click करके दुबारा activate कर लीजिए’। और users अगर गलती से उस link करते है तो bank के information hackers के पास चला जाता है। और hackers उस information इस्तेमाल करके जो चाहे बो कर सकता है।
  2. Drive-by downloads :- यह भी एक famous तरीका है Malware Delivered करने की। users जब कोई unauthenticated website से software download करता है तब उस software के जरिए malware deliver किया जाता है।
  3. Pirated software :- software दो तरीके की होता है एक real और दूसरा Pirated। Pirated software का मतलब होता है real software की copy (नकली) version। बहुत सारे company है जो इस तरह के Pirated software बनाती है। और आपने website में upload करती है और इस तरह के Pirated software users जब download और install करता है तब उसी software के जरिए malware को Delivered किया जाता है।
  4. Removable media :- और एक माध्यम है malware को Delivered करने की और बह है Removable media (मतलब pendrive, SD card, etc)।
  5. Massaging Technic :- इस technic धीरे धीरे popular हो रहा है। इस technic में hackers unwanted link या URL send करता है users की phone number में, WhatsApp में, Facebook में। और users जब उस link करते है तब malware को Delivered किया जाता है users की phone में।

Conclusion

उम्मीद करता हूँ, आप मैलवेयर क्या है और कैसे इससे बचा जाए जानिए पूरे जानकारी के साथ – What is malware in Hindi? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.