Secondary Memory क्या है और इसके प्रकार – What is Secondary Memory in hindi

Secondary Memory in Hindi
Spread the love

देखिए दोस्तों, कंप्युटर मेमोरी की अगर बात करे तो दो प्रकार की memory हमे देखने को मिलता है। एक Primary memory और दूसरा secondary memory । पिछले article में हम primary memory क्या है और उसके अलग अलग प्रकारके बारे में बात की है। और आज हम जानेंगे Secondary Memory क्या है और इसके अलग अलग प्रकार के बारे में। तो चलिए दोस्तों बिना किसी बक्त को न गबाये शुरू करते है –

आप अगर हमरे पिछले article Primary Memory क्या है और उसके अलग अलग प्रकार के बारे में जानना चाहते हो तो इस article को जरूर पड़े – COMPUTER MEMORY क्या है और उनके प्रकार?- Primary MEMORY IN HINDI

Secondary Memory in hindi

Secondary Memory क्या है – What is Secondary Memory in Hindi

secondary memory  एक ऐसा memory unit होता है जो कंप्युटर को backup storage या permanent storage provide करने के लिए जाना जाता है। इस memory non volatile होता है। और इस memory को हम auxiliary memory भी कहते हैं। इस memory का example है – Hard Disks, CD, DVD, Pan Drives,

etc.। और इसकी Storage Capacity बहुत ज्यादा होती हैं primary memory से।

सेकन्डेरी मेमोरी का उपोयोग – Uses of Secondary memory in Hindi

Uses of Secondary memory in Hindi
  • Permanent storage: जिस कारण के लिए इस memory को जाना जाता है बह है यह Non-volatile memory है। मतलब primary memory की तरह इस memory power off हो जाने के बाद डाटा को erase नहीं कर देते है, secondary memory power off हो जाने के बाद भी डाटा को लंबे समय तक store करके रखते है। यह है इसकी सबसे बड़ी खासियत, जिसके लिए इसका इस्तेमाल computing दुनिया में हो रहा है।
  • Large Storage: Secondary memory से और एक benefit मिलता है जिसके कारण से computing दुनिया में इसका इस्तेमाल हो रहा है बह है इसके large storage capacity। यह users को ज्यादा storage capacity provides करता है, जिससे users OS के important files के साथ साथ आपने personal data (like videos, images, audios, files, etc.) को permanent based पर store कर सकते है।
  • Portable: अभी के समय में तो secondary devices Portable में भी आ चुका है। जिससे users easily आपने डाटा को एक कंप्युटर से दूसरे कंप्युटर में transfer कर सकता है।
Related Notes –

Secondary memory के प्रकार – Types of Secondary memory in Hindi

देखिए दोस्तों Secondary memory दो (two) प्रकार के होते है :

  1. Fixed storage
  2. Removable storage
Types of secondary memory in Hindi

Fixed storage

Fixed storage device एक तरह के internal media device है, जिस पर OS के important files, कंप्युटर पर install software की डाटा, साथ ही साथ users के personal data (like videos, images, audios, files, etc.) भी store रहता है। इसको Fixed storage device इसलिए कहा जा रहा है क्यूंकी इसको अगर कंप्युटर से निकाल दिया जाए तो कंप्युटर अचल हो जाएगा। देखा जाए तो यह कंप्युटर के एक internal part ही है।

Types of fixed storage:

इस Fixed storage device तीन तरह के होता है। मतलब कंप्युटर के important डाटा रखने के लिए आप किसी भी storage device को choose कर सकते हो।

Floppy Disk क्या है ?

Floppy Disk एक पिछले जमाने की storage device है। इसको अभी के समय में कही पर भी इस्तेमाल नहीं किया जाता है। फिर भी इस memory के बारे थोरा बहुत बता देता हूँ – इस memory का invent हुआ था 1967 में, इसका size 8-inch था और इसमे सिर्फ 1.44 MB डाटा store किया जा सकता था।

Secondary Memory in hindi
Hard disk drives (HDD) क्या है ?

Hard disk एक electro-mechanical data storage device है। Electro-mechanical का मतलब होता है जिसमे electrical और mechanical दोनों concept present रहता हो। Hard Disk एक non-volatile storage Device है। non-volatile device उन्हें कहा जाता है, जो कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के डाटा को लंबे समय तक Store करके रख सकती है। Hard disk का काम होता है computer data को स्थायी रूप से संग्रहित (permanently store) और पुनर्प्राप्त (retrieve) करना। Hard disk को HDD भी कहा जाता है। और इसकी Storage Capacity बहुत ज्यादा होती हैं।

SSD (solid-state disk) क्या है ?

SSD computer पर इस्तेमाल होने बाली एक new generation की storage Device है। hard disk की तरह SSD भी non-volatile storage Device है। मतलब इसमे जो डाटा रहती है बह डाटा permanently based पर store रहती है। SSD के अंदर कोई भी mechanical parts नहीं होता है। SSD डाटा को Store करने के लिए NAND flash memory

का इस्तेमाल करते है। और SSD में कोई तरह के mechanical parts present नहीं रहने के लिए इसका speed hard disk से कही गुना ज्यादा होती है। SSD की डाटाको read और write करने की speed- 520 MBps से लेकर 550MBps तक होती है। SSD का जो main advantage है उसकी Performance या speed। किन्तु इस device बहुत महंगा होता है।

Secondary Memory in hindi

आपको अगर Computer Hardware मे Extra Ordinary बनना है तो आप नीच मे दी गई notes को follow करो –

Removable storage

सेकेंडरी मेमोरी में, Removable storage एक external media device है जिसका उपयोग कंप्यूटर सिस्टम में डेटा स्टोर करने के लिए किया जाता है। Removable storage device portable भी होते हैं, portable होने की नातिन इसको हम आसानी से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में डेटा ट्रांसफर कर सकते हैं। मतलब कंप्यूटर सिस्टम के चलने के दौरान हम इन्हें आसानी से कंप्यूटर सिस्टम से हटा सकते हैं।

SD Card क्या है ?

यह एक छोटी Chip होती है, जिसका उपयोग मुख्य रूप से मोबाइल फोन, कैमरा, MP3 प्लेयर और अन्य पोर्टेबल डिवाइस में डेटा रखने के लिए किया जाता है।

SD card in hindi
Flash Drive/Pen Drive क्या है ?

यह एक Portable Storage Device है, जिसका इस्तेमाल ऑडियो, वीडियो और अन्य डेटा फाइल्स को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में ट्रांसफर करने के लिए सबसे अधिक किया जाता है। डेस्कटॉप के USB Port मे Pan Drive को लगाकर इसमें मौजदू डेटा को आसानी से एक्सेस किया जा सकता है।

Digital Versatile Disc क्या है ?

Optical Disc भी एक स्टोरेज माध्यम है, जिसका उपयोग हम कंप्यूटरों में अतिरिक्त Secondary Memory के रूप में करते है। इन Disc का उपयोग आमतौर पर म्यूजिक, वीडियो और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को स्टोर करने के लिये किया जाता है। इनमें डिजिटल डेटा को रिकॉर्ड और पुनःप्राप्त करने के लिये Laser Beam का उपयोग होता है। हालांकि यह Hard Disk के जितना डेटा स्टोर नही कर सकती परन्तु Floppy Disk के मुकाबले इनकी स्टोरेज कैपेसिटी बहुत अधिक होती है।

Secondary Memory in hindi

Primary और secondary memory के बीच की अंतर – Difference between primary and secondary memory in Hindi ?

Secondary Memory in hindi
Primary Memory                    Secondary Memory
(i) Primary memory devices एक semiconductor memories है।(i) Secondary memory devices एक magnetic, optical and electronic memories है.
(ii) Primary memory volatile भी हो सकता है और non-volatile भी हो सकता है . ex – RAM एक volatile memory है और ROM एक non-volatile memory है। (ii) और दूसरी तरफ Secondary memory हर समय non-volatile ई होता है।
(iii) Primary memory ज्यादा effective और interacted होता है। जिससे बहुत quickly तरीकों से microprocessor के साथ communicated कर पता है।(iii) और Secondary memory बहुत slower है और slowest तरीकों से microprocessor के साथ communicated करता है।

यह भी पूछे जाते है –

Secondary memory के उदाहरण – secondary memory example in Hindi

:> इस secondary memory का example है – Hard Disks, SSD, CD, DVD, Pan Drives, etc.।

कौन सी सेकेंडरी मेमोरी का प्रकार नहीं है ?

: – RAM, ROM, और Cache Memory इन तीनों Memory Secondary memory का प्रकार नहीं है।

सबसे बड़ी मेमोरी कौन सी है?

: – मेमोरी की दुनिया में सबसे सबसे बड़ी इकाई है जीओपबाइट (GeopByte) मेमोरी ।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप Secondary Memory क्या है और इसके प्रकार को जानिए ? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!