SMPS क्या है और ईसके प्रकार, कार्ये को जानिए – What is SMPS in Hindi

SMPS in Hindi
Spread the love

computer के सबसे महत्वपूर्ण components होता है SMPS। सिर्फ computer ही क्यों, कंप्युटर के एलाबा और भी बहुत सारे sensitive electronic products की महत्वपूर्ण components है SMPS। क्यूंकी SMPS ही है जो Electric power को कुशलतापूर्वक Convert करके accurate output देता है। और आज हम उसी SMPS के बारे में बात करेंगे। चलिए जान लेते है इस Article के जरिए आप क्या क्या जानोगे। आप जानोगे- SMPS क्या है – What is SMPS in Hindi, SMPS के प्रकार, SMPS की Advantages, 80 Plus Standard क्या है, Computer SMPS के सभी Connectors etc. जैसी और भी कई सारे important topics।

What is SMPS in Hindi

SMPS क्या है – What is SMPS in Hindi

SMPS एक switching device है जो Electric power को कुशलतापूर्वक Convert करके accurate output देता है। Computer, CCTV, AC, refrigerator, etc. जैसी और भी बहुत सारे sensitive electronic products है जहां पर stable, accurate, और efficient output frequency की जरूरत परती है और वहां पर ही इस SMPS को इस्तेमाल किया जाता है।

SMPS का Full From क्या है – SMPS Full Form in Hindi

SMPS का full from है switched-mode power supply

पावर सप्लाई के प्रकार – Types of SMPS in Hindi

हम सभी ने एक ही तरह के SMPS के बारे में ज्यादातर परिचित है बह है Computer के SMPS। किन्तु Computer के SMPS के एलाबा और भी कई तरह के SMPS market में available है। चलिए दोस्तों, उन सभी SMPS क्या क्या है और कहाँ पर इस्तेमाल होते है। आज हम एक एक करके जानेंगे। आज के समय मे market में चार तरह (4 types)

के SMPS देखनेको मिलता है-

  1. DC-DC Converter SMPS
  2. Forward Converter SMPS
  3. Flyback Converter SMPS
  4. self-oscillating Flyback Converter SMPS

1) DC-DC Converter in Hindi

इस Types के smps को वहाँ इस्तेमाल किया जाता है जहां पर input में DC supply मिलता है और output में भी DC supply ही चाहिए। for example– Bus, Bike, Car, etc. इन सब vehicles में क्या होता है एक powerful battery रहता है उस battery high voltage DC supply (15KHz-5KHz) generate करता है। और उस high voltage DC supply को इस types के SMPS के जरिए कम (50 Hz) किया जाता है, और फिर vehicles में इस्तेमाल होने बाली सभी electronic product में supply दिया जाता है।

smps in hindi

2) Forward Converter in Hindi

इस types के SMPS के बारे में बताने के लिए कुछ है नहीं। हम सभी ने कुछ ना कुछ जानते है इस SMPS के बारे में। इस types के SMPS input में AC supply लेते है और output में DC supply produce करता है। इस types के SMPS आपको देखनेको मिलेगी computer में, CCTV camera में, etc. जैसी devices में। इस types के SMPS के अंदर एक bridge Rectifiers और filters रहता है जो AC supply को DC supply में convert करने का काम करता है।

3) Flyback Converter in Hindi

Forward Converter SMPS की तरह Flyback Converter SMPS भी input में AC supply लेते है और output में DC supply produce करता है। किन्तु Flyback Converter और Forward Converter SMPS के बीच एक ही फरक है बह है Forward Converter SMPS output में multiple DC voltage out करता है (ex– 5v,12v, 3.3v, etc.) और Flyback Converter SMPS output में सिर्फ एक ही DC voltage out करता है ( 5v या 3v)। इस types के SMPS आपको देखनेको मिलेगा – led bulb, CCFL bulb के अंदर।

Flyback Converter smps in hindi

4) self-oscillating Flyback Converter in Hindi

यह SMPS भी AC supply को DC supply में convert करता है। इस types के SMPS छोटे छोटे toy, electronic product, charger, में देखनेको मिलता है।

smps in hindi
Related Notes-

Advantages of SMPS in Hindi

  • The switch mode power supply आकार में बहुत छोटा होता है, जिसके कारण यह हर जगह में fit हो जाता है।
  • इस device बहुत efficient है।
  • The switch mode power supply कम वजन सम्पन्न होता है।
  • इसकी price बहुत कम है।
  • यह एक flexible technology है। मतलब इसकी technology ऐसी है के जब suddenly input में high frequency आ जाता है तब उसको step down करके normal frequency मे output करता है और जब low frequency आ जाता है तब उसको step up करके normal frequency मे output करता है। इसे क्या होता है system में कोई effect नहीं परता।
  • SMPS device का range बहुत wide है। मतलब इसका इस्तेमाल छोटे से छोटे device से लेकर sensitive electronic devices में भी किया जाता है

SMPS कैसे काम करता है – Working SMPS in Hindi

AC to DC SMPS या Computer की SMPS कैसे काम करता है उसको हम जानेंगे SMPS की Diagram के through। पहले आप नीच में दी गई diagram देखो।

 SMPS in Hindi
  • जैसे की आप Diagram में देख रही हो, SMPS की input में जब AC current को दिया जाता है तब उस AC current में High voltage तो रहता है किंतु current की frequency low रहता है। उसके बाद उस AC current को पहले rectifier and filter section से गुजरना पड़ता है। rectifier and filter section क्या करता है उस high voltage AC current को High voltage DC current में बदल देता है। किन्तु rectifier section low frequency को high frequency में तकदील नहीं कर पता है।
  • इसलिए उसके बाद उस High Voltage DC current एक high frequency switch section से गुजरना पड़ता है। high frequency switch क्या करता है उस DC current की frequency को बढ़ा देता है।
  • इस section को पार करके high voltage and high frequency current गुजरता है step down transformer से। step down transformer उस high voltage current को low voltage में convert करता है ।
  • उसके बाद उस low voltage DC current जाता है rectifier and filter section में। इस section उस dc current को एकदम Aquarate DC current में convert करता है। और उसके बाद उस DC current output होता है।
  • किन्तु output होने से पहले उस DC current output sensor में जाता है। जैसे कि आप ऊपर की image में देख रहे हो। इस section की total circuit (मतलब isolation, reference, error amp, and pwm) क्या करता है उस DC current एकदम perfect है की नही उसको एकबार check करता है। अगर चेक करके देखता है कि सब कुछ ठीक है तो कोई बात नही SMPS running condition में चला जाता है, किन्तु अगर check करके कोई error पाती है तो तुरंत high frequency switch को inform करता है और high frequency switch power cut कर देता है। इससे डिवाइस का कोई नुकसान नहीं होता।

Computer SMPS Wire Color
को समझिए – Computer SMPS Wire Color Code in Hindi

कंप्युटर की SMPS में Total दश colors या 10 colors की Wires रहता है। और 10 colors wires से different different DC voltages output होता है। तो चलिए देख लेते है उन दश colors की wire क्या क्या है और उन सभी wire से क्या क्या voltage output होता है-

Wire colourDC Voltage
Red (5 wires)+5 V
Yellow+12V
Black (8 wires)Ground
Blue-12V
GreyPower Good
GreenPower On
Purple+5V StandBy
Orange (4 wires)+3.3V
Brown/Orange+3.3V Sense
White5V (optional)

80 Plus Standard क्या है – 80 Plus Standard in Hindi

आप जब भी कोई महंगा वाला कंप्यूटर power supply खरीदोगे power supply के box में आपको यह standard (मतलब 80 plus standard) देखने को मिलेगा। अब जान लेते हैं आखिर इस 80 plus Standard होता क्या है। जैसे आप नीच की images में देख रही हो –

What is SMPS in hindi

देखिए दोस्तो, अब तक आप जाने हो SMPS AC current को DC current में convert करता है । तो जब SMPS एक energy को दूसरी energy में मतलब AC current को DC current में convert करता है तब SMPS से 100 % conversion rate नही मिलता है, उन्मेसे कुछ energy (current) lost या waste हो जाता है। और SMPS कितना accurate energy या current conversion कर रहा है बह normal SMPS में नहीं लिखा हुआ रहता है किन्तु आप अगर महंगा वाला कंप्यूटर power supply खरीदते हो तो उस SMPS की box में 80 plus standard लिखा हुआ रहता है।

इसका मतलब यह ही होता है दोस्तो के हमारे power supply कम से कम 80 % energy या current को Accurate conversion करने में सक्षम है, मतलब Output देने में सक्षम है। और 80 Plus standard के साथ और भी कुछ लिखा हुआ रहता है, For example – 80 Plus bronze, 80 Plus silver, 80 Plus gold, 80 Plus platinum और 80 Plus titanium। इसका अर्थ नीच की image में देख लीजिए-

SMPS in Hindi
image पर load के हिसाब से efficiency की बात किया जा रहा है
यह भी पढे 

Computer SMPS के सभी Connectors के बारे में जानिए – Connector of SMPS in Hindi

SMPS in Hindi
  1. 4 pin Connector:- इस connector के जरिए CPU को power दिया जाता है।
  2. ATX 24 pin connector – इस कनेक्टर के जरिए पूरे मदरबोर्ड को power दिया जाता है मतलब इस कनेक्टर पूरे motherboard में जितनी भी छोटे छोटे Chip या IC है उसको power देता है इस connector।
  3. SATA Connector– इस connector के जरिए आज के समय के hard disk और CD drive को power दिया जाता है।
  4. Floppy 4 pin – इस कनेक्टर के जरिए floppy disk को power दिया जाता है।
  5. PCI-e 6+2 pin :- इस connector के जरिए new generation के graphic card को power दिया जाता है। Normal graphic card को power देना नही परता है क्यूंकी बह pci express x16 की slot power से power ले लेता है । किन्तु new generation graphic card को अलग से पावर देना परता है। सब power supply मैं तो यह connector नहीं नहीं रहता है किन्तु महेंगा बाला सभी power supply में यह connector रहता है।
  6. Peripheral 4 pin :- इस कनेक्टर के जरिए पहले हार्ड डिक्स और CD drive को power दिया जाता था किन्तु अब इस connector के जरिए external fan या cabinet fan को चलाने के लिए power दिया जाता है। और इसको Molex connector
    के नाम से भी जाना जाता है।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप SMPS क्या है और उसके प्रकार, कार्ये को जानिए – What is SMPS in Hindi? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!