रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम, Features, Types, – What is Real Time OS (RTOS) in Hindi

आज के समय में हम सभी ने Operating System का इस्तेमाल करते है और इसका इस्तेमाल सभी जगह पर हो रहा है। जैसे- Railway, Research, Satellite, Industry, Office etc. आप सुन के हैरान हो जाओगे सभी जगह पर एक ही तरह के Operating System इस्तेमाल नहीं होता है, अलग अलग field मे अलग अलग types के Operating System इस्तेमाल होता है। किन्तु बहुत कम लोग ही जानते है OS की उन सब types के बारे मे । चलिए आज उन सभी operating system में से एक operating system Real Time OS के बारे में जान लेते है।

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है – Real-time operating system in Hindi ?

पिछले तीन ऑपरेटिंग सिस्टम में हमने देखा कोई भी Task देने के बाद output आने के लिए user को कुछ देर तक wait करना पड़ता था। किन्तु, इस OS मे ऐसा नहीं होता है। Real-time operating system CPU को User द्वारा दी गई Task को तुरंत solve करने की instruction देती है। इस OS मे User अगर कोई task देती है CPU को बह Task तुरंत solve हो जाता है। इसमें delay नहीं होता है ।

Real time OS में time बहुत ज्यादा matter करता है। इसलिए इस OS को वहां पर ही इस्तेमाल किया जाता है जहां पर time का महत्व ज्यादा हो। मतलब इस operating system को weapon systems, air traffic control systems, Heart Peacemaker, Automobile control system like as Anti Lock & Air Bag, online transaction, etc. जगह पर इस्तेमाल किया जाता है।

Related Notes –

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण

  1. FreeRTOS: FreeRTOS यह एक popular open-source Real time OS है . इसको designed की गई है microcontrollers और small embedded systems को operate करने के लिए।
  2. VxWorks: VxWorks भी एक real time operating system है जिसको developed किया है Wind River Systems जैसे company ने. इसको ज्यादातर इस्तेमाल की जाती है aerospace, defense, और industrial automation industries.
  3. QNX: QNX यह एक commercial real time operating system है। और इसको developed है BlackBerry. इसको इस्तेमाल की जाती है critical applications में जैसे automotive (Anti Lock & Air Bag), medical devices (Heart Peacemaker), और nuclear power plants.
  4. Nucleus RTOS: Nucleus RTOS भी एक real time operating system है और इसको developed किया है Mentor Graphics. इसको भी इस्तेमाल की जाती है consumer electronics, medical devices, और automotive systems में.

RTOS के प्रकार – Types of Real-time operating system in Hindi

मूल रूप से Real-time operating system का तीन types देखने को मिलता है।

  1. Hard Real-Time operating system
  2. Soft real-time operating system
  3. Firm Real-time Operating System
Real-time operating system

Hard Real-Time operating system: इस प्रकार का RTOS को वहाँ पर इस्तेमाल किया जाता है जहां पर समय का कार्रवाई critical होता है। जैसे –Anti Lock, Air Bag, Heart Peacemaker आदि। इन सब जगह पर time बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। यहाँ पर कुछ sec एक इंसान की जीना मरना तय करता है। और वहाँ पर इस types के RTOS तत्परता के साथ निर्धारित समय पर आपना task को पूरा करने के लिए योग्य होता है।

Soft real-time operating system:  Soft RTOS वह ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जिसमें कुछ समय की देरी को accept (स्वीकार) किया जा सकता है। यानि इसमें कुछ समय के लिए काम या process में देरी हो सकती है। इसमें भी काम को पूरा करने के लिए एक fix time होता है लेकिन यह थोड़ी देरी (delay) को accept करता है।

इस प्रकार का RTOS एक सीमित अवधि के भीतर टास्क को पूरा करने का वादा करता है, लेकिन अनुप्रयोग के लिए आराम से अनुमति देता है जब आवश्यकता होती है। यह सिस्टम व्यावसायिक उपयोगों में उपयुक्त होता है, जहां अप्रिय टास्क के पूरा होने के लिए थोड़ी सी विलंब स्वीकार्य हो सकती है, जैसे digital audio systems, database system, और सबसे best example होगा ATM machine। इसमे आप देखे होंगे ATM मशीन से पैसा निकालते समय हमें कभी-कभी थोड़ा अधिक समय लग जाता है।

Firm Real-time Operating System: इस प्रकार का RTOS में कुछ समय की देरी को स्वीकार किया जा सकता है। यह सिस्टम उपयोगों में उपयोगी होता है जहां समय की एक निश्चित सीमा होती है, लेकिन थोड़ी देर का विलंब स्वीकार्य हो सकता है, जैसे multimedia use, gaming, training simulation आदि।

Features of Real-Time Operating System in Hindi

Real-Time Operating System की कुछ important features –

  • Determinism: इसका सबसे बेहतरीन feature में से एक है यह Determinism feature। यह Repeating input में same output या result provide करता है।
  • High performance: RTOS systems बहुत fast और responsive है। यह input मिलने की तुरंत ही reply दे देता है।
  • Safety and security: RTOSes का उपयोग अक्सर महत्वपूर्ण प्रणालियों में किया जाता है। जैसे robotics or flight controllers। अपने आस-पास के लोगों की सुरक्षा के लिए उनके पास उच्च सुरक्षा मानक और अधिक विश्वसनीय सुरक्षा सुविधाएँ present होता है।
  • Priority-based scheduling: इस os का इस feature भी बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस OS क्या करता है मान लीजिए एक समय पर इसके पास दो tasks आ गया है एक high Priority task एक low Priority task। इस OS automatically high Priority tasks को पहले executed करेगा और low Priority task को बाद में।
  • Small footprint: इसका जो सबसे खास feature है बह है इसकी small footprint। मतलब इस OS system में install होने के लिए सबसे कम (single-digit megabytes)space लेता है। और आप अगर windows OS से compare करे उसकी तुलना में 20,000 times smaller है।

Real-time operating system की Advantages

  1. इस OS की सबसे बड़ी advantage है इसकी quick Response time। कोई भी task को जल्दी process करता है।
  2. इस OS की task shifting बहुत fast है बाकी OS की तुलना मे।
  3. इस OS मे कोई तरह की error नहीं आती है।
  4. Memory को सही तरह से इस्तेमाल करता है इस operating system।
  5. इसका एक अन्य महत्वपूर्ण लाभ यह है कि इसे प्रतिस्थापित करना आसान होता है, जिसके चलते नई विशेषताओं को जोड़ना और सुरक्षा सुधार करना संभव होता है।

Real-time operating system की Disadvantages

  1. एक time मे इस OS बहुत कम task को ही process कर सकता है।
  2. इस OS का algorithms बहुत complex होती है।
  3. कभी-कभी यह सिस्टम resources इतने अच्छे तरह से इस्तेमाल नहीं करते हैं और महंगे भी होते हैं।
  4. इसकी एक लपरभही से बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है। जैसे car में इस्तेमाल होने बाली air bag, air bag अगर accident के समह active ही हुआ तो इंसान की जान भी जा सकता है।

Applications of Real Time Operating System in Hindi

Real-time systems को इस्तेमाल की जाने बाली जगह –

  • Airlines reservation system.
  • Air traffic control system.
  • Systems that provide immediate updating.
  • Used in any system that provides up to date and minute information on stock prices.
  • Defense application systems like RADAR.
  • Networked Multimedia Systems
  • Command Control Systems
  • Internet Telephony
  • Anti-lock Brake Systems
  • Heart Pacemaker

Difference between Regular and Real-Time operating systems in Hindi

Regular OSReal-Time OS (RTOS)
 यह Complex task को पूरा करने के लिए capable होता है।             यह simple task को पूरा करने के लिए capable होता है।
इस regulars os का purpose होता है कोई भी task को पूरा करने के लिए Best effort देना।  इस RTOS का purpose होता है कोई भी काम में quick response और Guaranteed response देना।
 इसकी Coding easy and simple होता है।   इसकी Coding complex and feedback specific होता है।
इस OS एक साथ बहुत सारे काम को करने के लिए design की गई है।  इस OS सिर्फ एक काम को सिद्दत से करने के लिए design की गई है।
इस OS को General purpose में इस्तेमाल किया जाता है।   इस OS को critical purpose में इस्तेमाल किया जाता है।
 इस OS का behavior कभी कबर Unpredictable हो सकता है।       लेकिन इस OS का behavior हर बार Predictable होता है।
 यह Plug and play होता है।  RTOS एक upgradeable OS है।
इसका example है – Window 7, 10,11, Linux, etc. इसका example है – weapon systems, air traffic control systems, etc.

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम, Features, Types, – What is Real Time OS (RTOS) in Hindi को read करने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *