Routing क्या है और इसकी importants को जानिए – What is routing in Hindi?

तो आज हम networking की सबसे important concept routing के बारे जानने बाले है। जानकारी के लिए आपको बता देता हूँ Routing के बिना data packet एक जगह से दूसरी जगह transfer ही नहीं हो पाएगा। तो इतना important है routing। तो चलिए आज हम क्या क्या जानेंगे एकबार देख लेते है – हम जानेंगे Routing क्या है, Routing क्यूँ महत्वपूर्ण है, Routing की प्रकार, Main routing protocols क्या क्या है, Routing algorithm क्या है, etc. तो चलिए शुरू करते है –

रौटिंग क्या है – What is Routing in Hindi?

देखिए दोस्तों रौटिंग का अर्थ अगर उसके नाम के माध्यम से समझे तो उसमे route का जिक्र है। और route का अर्थ किसी जगह जाने के लिए जैसे हम सही way या पथ का इस्तेमाल करते है ठीक उसी प्रकार कंप्युटर नेटवर्क में डाटा को जब एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए सही पथ या way का चयन करना परता है। और उसी चीज को network की भाषा में routing कहा जाता है। और इस routing router में save रहते है। तो चलिए इस चीज को थोरा technically समझते है –

Routing एक प्रकार का process होता है जिसमें डेटा पैकेट्स को सही मार्ग या route पर भेजा जाता है ताकि वे सही गंतव्य तक पहुंच सकें। यह process router के द्वारा किया जाता है। और इस चीज को router आपने routing table में save करके रहते है। तो सायद आपको समझ में आ चुका है Routing होता क्या है।

Routing क्यूँ महत्वपूर्ण है – Why routing is so important in Hindi?

रौटिंग क्यूँ important है आपको एक आसान example के जरिए समझाता हूँ – दोस्तों, मान लीजिए आप काम की सिलसिले में Kolkata आना चाहते हो और आप सिर्फ यह जानते हो आपके वहाँ से Kolkata इतनी km मतलब 2500km दूरी में है। लेकिन Kolkata में आने के लिए आपके पास कोई सही route की information नहीं है, क्या आप आ पाओगे? नहीं न ।

ठीक उसी प्रकार network में कोई डाटा packet अगर A point से B point जाना चाहता है तो उसके लिए उस डाटा packet को सही route की पता होना जरूरी है। तभी जा कर data packet A point से B point में जा पाएगा। तो बजह से रौटिंग इतना important है।

WWW क्या है ? जानिए सबसे आसान भाषा में -WHAT IS WWW IN HINDI

Routing की प्रकार – Types of Routing in Hindi

तो routing मतलब डाटा सही गंतव्य में पहुँचेगा उसका जो process है, उस process पहले से ही router में नहीं रहते है उस चीज को router में जा कर configure करना परता है। तो अब हम उस configure करने की कितना तरीका है। तो राउटर को configure करने की तीन तरीका है –

  1. Static routing
  2. Default Routing
  3. Dynamic routing

Static Routing क्या है – Static routing in Hindi

Static routing में कहा होता है network administrator को manual रूप से यह यह configure करना परता है के डाटा packet एक नेटवर्क से दूसरे network में जाने के लिए कौनसा route को follow करे। और जब डेटा पैकेट एक नेटवर्क से दूसरे network में जाते है तब उस route follow करके जाता है।

for example नीच की चित्र को देखो router A अगर Router C को कुछ डाटा भेजना चाहता है तो बह कौनसा route को follow करे, red बाला route या purple बाला route बह ही network administrator को manually router A में जा कर configure करना परता है।

Static Routing in hindi

Default Routing क्या हैDefault Routing in Hindi

Default Routing एक नेटवर्क की डाटा packet को सही destination network पर भेजने के लिए एक विशेष प्रकार का routing है। router के पास जब कोई बेहतर route उपलब्ध नहीं होता है तब इस route का इस्तेमाल करते है। इसको भी एक network administrator को configure करना परता है। लेकिन एक बात इहाँ पर बता देता हूँ एक राउटर पर एक ही routing स्थापित हो सकता है।

Dynamic Routing क्या है – Dynamic routing in Hindi

अब आता है main routing पर मतलब Dynamic routing पर। इस routing ही अब सभी राउटर में इस्तेमाल हो रहा है। लेकिन इनके बहुत सारे types है जो next paragraph में बात करेंगे। पहले इसके definition को थोरा समझ लेते है –

Dynamic routing एक networking concept है जो कंप्यूटर नेटवर्क्स में इस्तेमाल होता है। इसका मुख्य उद्देश्य डेटा पैकेट्स को एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क तक सही पथ पर भेजना होता है, ताकि ये पैकेट्स कुशलता से और सही लक्ष्य तक पहुंच सकें। लेकिन इसको भी configure करना परता है।

लेकिन इसका benefit यह है – network के अंदर present router और switch आपस में सूचनाएँ update करते रहते हैं, इससे क्या होता है मान लीजिए नेटवर्क में कोई बदलब हो गया है तो network होने वाले बदलावों को इस routing protocol accept करके डेटा पैकेट्स को सही मार्ग पर भेजने की capability है इस dynamic routing protocol के अंदर।

Main routing protocols क्या क्या है – What are the main routing protocols in Hindi? 

तो चलिए अब हम जान लेते है Dynamic routing के अलग अलग types के बारे में और इसको आप main routing protocols की तौर पर भी देख सकते हो। तो चलिए जान लेते है –

  1. RIP (Routing Information Protocol): RIP को आमतौर पर small और medium size नेटवर्क्स में इस्तेमाल किया जाता है । इसको इसलिए small नेटवर्क में इस्तेमाल किया जाता है क्यूंकी यह सिर्फ 15 routers manage कर सकता है।
  2. EIGRP (Enhanced Interior Gateway Routing Protocol): EIGRP बड़े और जटिल नेटवर्क्स के लिए उपयुक्त होता है और यह CISCO द्वारा विकसित किया गया है।
  3. OSPF (Open Shortest Path First): OSPF भी बड़े और जटिल नेटवर्क्स के लिए उपयुक्त होता है। यह राउटिंग टेबल की जानकारी को नियमित अंतरालों पर अपडेट करता है और यदि नेटवर्क में तोपोलॉजी में कोई बदलाव होता है तो केवल बदलाव के अनुसार ही अपडेट होता है।
  4. BGP (Border Gateway Protocol): BGP इंटरनेट गेटवेर्स के बीच रूटिंग के लिए इस्तेमाल होता है। यह बहुत ही स्केलेबल और व्यापारिक नेटवर्क्स के लिए उपयुक्त होता है जहाँ बड़ी मात्रा में राउटिंग जानकारी को संचालित करना होता है।

Routing algorithm क्या है- Routing algorithm in Hindi

  1. router का algorithm Data packet को Source to Destination में स्थानांतरित करने के लिए सबसे अच्छा मार्ग निर्धारित करके देता है , जिस माध्यम से Data packet को Destination में successfully transmit किया जा सके।
  2. डाटा जब एक जगह से दूसरी जगह में जाते है तो उस समय उस डाटाको बहुत सारे cable और station से गुजरके जाना परता है। और उस समय router डाटा को पूरी तरह से security देता है।
  3. router का algorithm डाटा को Destination में स्थानांतरित करने के लिए easiest route बताती है। ताकि डाटाको कम से कम router वाला पथ गुजरना पड़े। क्यूंकी डाटा अगर कम राउटर को cross करके destination जाता है तो time भी कम लगता है destination में जाने के लिए।

CONCLUSION

उम्मीद करता हूँ, आप Routing क्या है और इसकी importants को जानिए – What is routing in Hindi? इस notes को पूरा पढ़ने के बाद आपका सभी confusion clear हो गेया है और इस note से बोहत कुछ शिखने को मिला है। परन्तु यदि आपको इस पोस्ट में किसी जानकारी का अभाव लगता है या आपके पास इससे सम्बंधित कोई सवाल है. तो कृपया नीचे comment कर हमें जरूर बताये. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत मायने रखते है. और एक बात आपको अगर किसी भी topic पर जानकारी चाहिए,जो अभी तक मैंने cover नहीं की तो आप नीच में comment करके बह topic बता सकते हो। आपका topic clear करने की मैं पूरा कोशिश करूंगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *